डबरा में पुलिस की चालानी कार्रवाई, गोली चलने जैसी आवाज वाली बुलेट पकड़ी

Amit Sengar
Updated on -
dabra news

Dabra News : बीते कुछ समय से निरंतर बुलेट गाड़ियों में से गोली और पटाखे जैसी आवाजें निकालने की शिकायत डबरा सिटी थाना प्रभारी यशवंत गोयल को मिल रही थी जिसमें बुलेट गाड़ियों को चलाने वाले यूवा शहर के कोचिंग संस्थानों के आसपास और बाजार में पटाखे और गोली जैसी आवाज बुलेट गाड़ी में से निकलते हैं जिसको लेकर आज शहर के कई चौराहों पर चेकिंग अभियान शुरू किया गया जिसमें लगभग 6 बुलेट गाड़ियां पकड़ी गई जिन पर नियम के तहत चालानी कार्रवाई भी की गई।

क्या है मामला

बता दें कि पुलिस ने तेज आवाज वाली बुलेट को सड़कों और गलियों में दौड़ाना युवाओं का शौक बनता जा रहा है। इस शौक के चक्कर में काफी ध्वनि प्रदूषण उत्पन्न हो रहा है। इस तरह के वाहनों पर लगाम लगाने के लिए डबरा पुलिस ने कार्रवाई की है वहीं पुलिस ने मॉडिफाइड साइलेंसर लगी 6 बुलेट गाड़ियां पकड़ी गई। इस दौरान इन बुलेट में साइलेंसर मानक के विपरीत मिला। जिसके कारण टीम ने सभी वाहनों का चालान किया। और गाड़ी चालकों को हिदायत दी कि अगर अब बुलेट गाड़ियों में से ऐसी आवाज शहर में सुनने को मिली तो गाड़ियों को न्यायालय में पेश किया जाएगा।

वहीं इस पूरे मामले को सिटी थाना प्रभारी यशवंत गोयल ने बताया कि निरंतर कोचिंग संस्थानों से और कई अन्य जगहों से बुलेट गाड़ियों में से गोली की आवाज निकालने की शिकायतें उनको मिल रही थी जिस पर उन्होंने यह कार्रवाई की साथ ही उन्होंने कहा कि कोचिंग संस्थानों के बाहर और शहर में कहीं भी ऐसी बुलेट गाड़ियां पकड़ी गई तो उन पर इसी तरह निरंतर कार्रवाई होगी चाहे फिर किसी भी रसूखदार लोगों का फोन उनके पास आए वह अपने कर्तव्य से पीछे नहीं हटेंगे।
डबरा से अरुण रजक की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News