दमोह में सामने आई अलग तस्वीर, पूर्व मंत्री ने अपने सामने जलवाया पुतला, कहा – अब चाय पीकर जाइए

Damoh News : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या करने के लिए तैयार रहने का बयान देने वाले एम पी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और दिग्विजय सिंह सरकार में मंत्री रहे राजा पटेरिया के कथित बयान को लेकर जहां पूरे सूबे में हंगामा मचा हुआ है तो आम भाजपाई से लेकर दिग्गज भाजपा नेता तक पूर्व मंत्री राजा पटेरिया को लेकर आक्रोशित हैं। इस बीच राजा पटेरिया के गृह जिले दमोह से बेहद रोचक तश्वीरें सामने आई है जो इसके पहले शायद कभी कैमरे की नजर से आपने ना देखी हो जब जिसका पुतला जलाया जा रहा हो वो खुद अपने सामने पुतला जलवाए और फिर जलाने वालों को चाय के लिए भी ऑफर करे।

भाजपाइयों ने किया प्रदर्शन

जी हां कुछ ऐसी ही तस्वीरें दमोह के हटा से सामने आई है जब इलाके के विधायक और भाजपा कार्यकर्ता ढोल नगाड़ों के साथ राजा पटेरिया का पुतला लेकर उनके निवास पर पहुंचे तो घर के सामने चल रहे प्रदर्शन को देखते हुए खुद राजा पटेरिया अपने बेटे और परिजनों के साथ घर से बाहर आ गए। प्रदर्शन कर रहे भाजपाइयों का अभिवादन किया, फिर वायरल वीडियो की हकीकत सबको बताई और खुद कहा पुतला जलाइए, अपनी आंखों के सामने पुतला जलवाया और पटेरिया और उनके बेटे ने प्रदर्शनकारियों को चाय पीने का आग्रह भी किया हालांकि उनके ऑफर को लोगो ने स्वीकार नही किया।

सामने पुतला जलवाने के बाद पटेरिया ने अपने बयान की सफाई दी और खुद को गांधीवादी करार देते हुए उनके बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश करने की बात भी कही। पटेरिया की माने तो वो गोडसे की विचारधारा के खिलाफ लड़ रहे हैं और लड़ते रहेंगे हिंसा और गलत भाव उनके मन मे नही आ सकते। दूसरी तरफ पूर्व मंत्री राजा पटेरिया का बयान सूबे में राजनैतिक गर्मी बड़ा गया है।

पूर्व मंत्री पटेरिया पर मुकदमा दर्ज करने की मांग

प्रदेश के गृह मंत्री ने पटेरिया के खिलाफ़ एफआईआर करने के निर्देश पन्ना एस पी को दिए है, वही उनके बयान पर मोदी सरकार के जलशक्ति राज्य मंत्री प्रहलाद पटेल ने बयान जारी किया है और केंद्रीय मंत्री पटेल ने राजा पटेरिया के बयान की निंदा की है। वहीं पटेरिया के गृह जिले दमोह में सोमवार को जगह जगह प्रदर्शन हुए। जबेरा में पुतला जलाया गया तो जिला मुख्यालय पर भाजपाइयों ने पुलिस कोतवाली में जाकर। प्रदर्शन किया और पटेरिया पर मुकदमा दर्ज करने की मांग की।
दमोह से आशीष कुमार जैन की रिपोर्ट