Damoh News: बैंक लूट के बाद पुलिस प्रशासन सख्त, थाना स्तर पर ली जा रही बैंकर्स की मीटिंग, खुलासा करने पर एसपी का अधिकारियों ने किया धन्यवाद

पिछले दिनों जिले के एक बैंक में लूट की वारदात सामने आई थी, लेकिन पुलिस ने चंद घंटों में ही मामला को निपटा लिया था। इसी को लेकर पुलिस प्रशासन ने अधिकारियों की बैठक बुलाई।

Damoh

Damoh News: मध्य प्रदेश के दमोह जिले में इन दिनों पुलिस प्रशासन द्वारा बैंक और उसके आसपास के इलाकों पर खासा ध्यान दिया जा रहा है। इस दौरान पुलिस प्रशासन, बैंक अधिकारियों, कर्मचारियों को थाने में बुलाकर खास इंतजाम करने के निर्देश दे रही है। दरअसल, बीते दिनों जिले के फतेहपुर इलाके में स्थित मध्यांचल ग्रामीण बैंक में एक बड़ी लूट की घटना सामने आई थी।

कुछ घंटो में पुलिस ने किया खुलासा

दमोह जिले के फतेहपुर इलाके के मध्यांचल ग्रामीण बैंक में लुटेरों के द्वारा 41 लाख रूपए से ज्यादा की रकम लूटी गई थी। हालांकि, इस लूट को अंजाम देने वाले लुटेरों को पुलिस ने कुछ घंटों के भीतर ही पकड़ लिया था। वहीं, जब मामले का खुलासा हुआ तो सामने आया कि बैंक के ही एक कर्मचारी ने अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर बैंक लूटा था। फिलहाल, तीनो आरोपी धरे गए, लेकिन इस वारदात ने पुलिस को सतर्क कर दिया है और आगे ऐसी कोई वारदात न होने पाए इसके लिए पुख्ता तैयारी की जा रही है।

बैंक अधिकारियों को बुलाया थाना

एसपी श्रुतकीर्ति सोमवंशी के मुताबिक जिले भर के थाना क्षेत्रों में आने वाले विभिन्न बैंकों के अधिकारियों को थाने में बुलाकर उनसे मौज़ूदा हालात जाना जा रहा है। इसके अलावा बैंकों की सुरक्षा को लेकर भी निर्देश दिए जा रहे हैं। साथ ही आउटसोर्स कर्मचारियों को लेकर उनके वेरिफिकेशन कराने के निर्देश भी दिये गए हैं। वहीं, दूसरी तरफ कुछ घण्टो में लूट कांड का खुलासा और पूरे पैसों की बरामदगी के बाद मध्यांचल बैंक के आला अधिकारी बेहद खुश है। शनिवार को बैंक के एक प्रतिनिधि मंडल ने एसपी से भेंट कर उन्हें धन्यवाद दिया। इस दौरान उनके द्वारा पूरी पुलिस टीम के प्रति आभार भी जाहिर किया गया।

Damoh

दमोह से दिनेश अग्रवाल की रिपोर्ट


About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है–खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालोमैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।

Other Latest News