Damoh News: एक बार फिर गोकशी की घटना आई सामने, पुलिस ने 3 आरोपियों को किया गिरफ्तार, 2 फरार

पुलिस को सूचना के आधार गोकशी करने वाली घटना पर रेड मारी। इस दौरान पुलिस ने 5 किलो मांस जब्त किया।

Damoh

Damoh News: मध्य प्रदेश के दमोह जिले में एक बार फिर गो कशी की वारदात सामने आई है। दरअसल, पुलिस ने गोकशी के खिलाफ छापेमार कार्रवाई की। इस दौरान पुलिस ने 5 किलो मांस जब्त किया। साथ ही गोकशी करने वाले 5 लोगों में से 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि 2 आरोपी अभी भी फरार बताए जा रहे हैं। वहीं, पुलिस ने आरोपियों के पास से देशी बम और हथियार बरामद किया।

पुलिस को मिली सूचना

दमोह जिले के चेनपुरा इलाके में सुबह-सुबह पुलिस को गाय के काटे जाने की सूचना मिली थी, जिसके तुरंत बाद पुलिस हरकत में आ गई। इस दौरान कोतवाली पुलिस ने बताए गए जगह पर रेड की, यहां सच में गो कशी की वारदात को अंजाम दिया गया था। फिलहाल, पुलिस ने इस जगह से पांच किलो मांस जब्त किया। इस दौरान पुलिस ने रेड में पाया कि पांच लोगों ने मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया था, जिसमें पुलिस 3 आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफल रही, लेकिन 2 आरोपी अभी फरारा हैं, जिसकी तलाश की जा रही है। पकड़े गए आरोपियों के पास से पुलिस द्वारा देशी बम और हथियार भी जब्त कर लिए गए हैं।

एसपी ने दी जानकारी

दमोह जिले की एसपी श्रुतकीर्ति सोमवंशी के मुताबिक जब्त किए गए मांस को फारेंसिक लेब भेजा गया है। वहीँ, दो फरार आरोपियों की गिरफ्तारी की कोशिशें की जा रही हैं। आपको बता दें कि दमोह लंबे समय से गोकशी के लिए पूरे देश मे जाना जाता है और इसे लेकर आये दिन बवाल खड़ा होता है। बीते महीनों में इलाके की कसाई मंडी में पुलिस की ताबड़तोड़ कार्रवाईयों के बाद उम्मीद थी कि गोकशी पर विराम लगेगा, लेकिन एक बार फिर दिन दहाड़े गोकशी की घटना को अंजाम दिया गया, जोकि इलाके में जानवरों के कत्लेआम करने वालो के मंसूबे को फिर जाहिर कर दिया गया है।

दमोह दिनेश अग्रवाल की रिपोर्ट


About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है–खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालोमैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।

Other Latest News