SDM लगे लाइन में, जानी वस्तुओं की विक्रय दर, दुकानदारों को चेतावनी

दतिया। सत्येन्द्र रावत। पूरे भारतवर्ष में लॉक डाउन घोषित करने के बाद से आज दूसरा दिन है। जिसके चलते लॉक डाउन का असर देखने को मिला। इससे पूर्व जिला प्रशासन द्वारा आवश्यक वस्तु खरीदी के लिए निर्धारित समय के अनुसार लोग अपने-अपने घरों से सामग्री खरीदने के लिए निकले और दुकान पर पहुंचे। जहां सब्जी मंडी और किराना की दुकानो पर भीड़ रहीं। वहीं दूसरी तरफ अनुविभागीय अधिकारी ने दलबल सहित किराना स्टोर पहुंचकर स्वयं दुकानों में ग्राहकों की लाइन में लगकर आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी दर की हकीकत जानने की कोशिश की। इसमे कई दुकानदार निर्धारित दरों के बाद भी ग्राहकों को ऊंची दरों पर सामग्री बेच रहे थे। जिस पर एसडीएम ने दुकानदारों को हिदायत दी है।

लॉक डाउन के दूसरे दिन गुरुवार को सुबह-सुबह एसडीएम वीरेंद्र सिंह बघेल तहसीलदारों, पटवारियों के साथ स्थानीय सब्जी मंडी प्रांगण एवं राजगढ़ चौराहे पर पहुंचे और राजगढ़ चौराहे पर खुली किराना की दुकान पर ग्राहकों के साथ लाइन में लगे। लाइन में लगकर उन्होंने यह जानने का प्रयास किया कि दुकानदार द्वारा आम ग्राहकों को लॉक डाउन की स्थिति में ब्लैक मार्केट करते हुए सामान को तथा आवश्यक वस्तुओं को अधिक दरों पर तो नहीं बेचा जा रहा है। जिसमें एसडीएम द्वारा इस परिपेक्ष में यह हकीकत सामने नजर आई कि दुकानदार ग्राहकों से न्यूनतम दर के बावजूद भी अधिक मूल्य वसूल रहे हैं। जिस पर दुकानदारों को एसडीएम द्वारा सख्त निर्देश करते हुए उन पर कार्रवाई की चेतावनी दी है।
गौरतलब है कि जब से पीएम नरेंद्र मोदी जी द्वारा पूरे भारतवर्ष को 21 दिनों के लिए लॉक डाउन घोषित किया गया है। तब से इसके परिपेक्ष में दुकानदारो द्वारा ब्लैक मार्केट एवं कालाबाजारी की स्थिति भी भाभी जा रही है। जिसे देखते हुए जिला प्रशासन ने दुकानदारों को इस पर निर्देशित कर रहा है कि दुकानदार ग्राहकों से निर्धारित दर के अनुसार दुकानदारी करे। उसके बावजूद भी यह देखने में आ रहा है कि दुकानदार पैनिक शॉपिंग करने की स्थिति में ग्राहकों से अधिक मूल्य वसूल रहे हैं।