किसानों के समर्थन में उतरे अरुण यादव, सरकार से की यह बड़ी माँग

साथ ही शिवराज जी से माँग करता हूँ की उक्त योजना को प्रशासनिक स्वीकृति प्रदान करे। यदि किसानों को पानी नही मिलेगा तो वह खेती कैसे करेगा।

देवास/बागली, सोमेश उपाध्याय। देवास (dewas) जिले चल रहे किसानों (farmers) के अनिश्चितकालीन आन्दोलन को पूर्व केंद्रीय मंत्री व काँग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव (arun yadav) का भी समर्थन मिल गया है।यादव ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ (MP Breaking News) से चर्चा के दौरान कहा कि किसानों की मांग जायज है।जब पानी बागली क्षेत्र से निकल रहा है तो नर्मदा के जल पर पहला अधिकार भी बागली क्षेत्र के किसानों का है।सरकार का यह गैरजिम्मेदाराना रवैया है।

कांग्रेस सरकार के दौरान हम लोगो ने ही डीपीआर बनवाई थी।बागली क्षेत्र के किसान की लड़ाई में पूरी तरह साथ हूँ।में पिछले दस वर्षो से क्षेत्र की आवाज बनता आया हूँ। आगे भी किसानों के लिए खड़ा रहूंगा। साथ ही शिवराज जी से माँग करता हूँ की उक्त योजना को प्रशासनिक स्वीकृति प्रदान करे। यदि किसानों को पानी नही मिलेगा तो वह खेती कैसे करेगा।

Read More: स्कूल शिक्षा मंत्री का बयान- नहीं खुलेंगे 1 से 8वीं तक के स्कूल, 10वीं-12वीं परीक्षा पर कही ये बातें

गौरतलब है कि बागली के चापड़ा में हॉटपिपल्या माइक्रो उद्गन सिंचाई परियोजना की प्रशासनिक स्वीकृति की मांग के साथ भारतीय किसान संघ बीते 30 मार्च से आन्दोलनरत है। किसान संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष रामप्रसाद सूर्या, प्रान्त मन्त्री नारायण पटेल,जिलाध्यक्ष गोवर्धन पाटीदार,तहसील अध्यक्ष हुकम चन्द्र पटेल,शांतिलाल सोलिया,चंपालाल पाटीदार ने सरकार और प्रशासन को स्पष्ठ कह दिया है कि आन्दोलन किसी भी कीमत पर स्थगित नही होगा।