देवास में गोवंश की तस्करी का मामला, गौ रक्षकों को देख मौके से फरार हुए आरोपी

देवास में गोवंश की तस्करी करने का मामला सामने आया है।

देवास, डेस्क रिपोर्ट। देवास (Dewas) के अमलावती इलाके से गोवंश की तस्करी का मामला सामने आया है। यहां पर 1 दर्जन से अधिक मवेशियों को वाहन के माध्यम से तस्करी के लिए ले जाने की तैयारी की जा रही थी। सूचना लगते ही गौ रक्षक यहां पर पहुंचे और गोवंश को सुरक्षित छुड़वा लिया। गौ रक्षकों को देखकर तस्करी करने वाले मौके से भाग खड़े हुए।

मामला बीएनपी थाना के अंतर्गत आने वाले अमलावती इलाके का है। यहां पर विजयागंज मंडी के पास मौजूद डेल्टा स्कूल के पास से गोवंश को जबरदस्ती वाहनों में भरकर तस्करी के लिए ले जाने की कोशिश की जा रही थी। सूचना मिलते ही गौ भक्त यहां पर पहुंच गए जिन्हें देखकर बदमाश मौके से फरार हो गए। गौ भक्तों ने अज्ञात लोगों के खिलाफ बीएनपी थाने में शिकायत दर्ज करवाई है।

Must Read- विदिशा में तंत्र क्रिया के बहाने तांत्रिक ने महिला से किया दुष्कर्म, पुलिस की गिरफ्त में आरोपी

जानकारी के मुताबिक तस्करी के लिए लेकर जा रहे गोवंश के मुंह और पैर को तस्करों ने रस्सी से बांध दिया था। मौके पर पहुंचे गौ भक्तों ने पशु चिकित्सकों को बुलवाकर गोवंश का इलाज करवाने के बाद नगर निगम और पुलिस की मदद से उन्हें गौशाला पहुंचाया। अज्ञात आरोपियों के खिलाफ बीएनपी थाने में विभिन्न धाराओं के तहत गोवंश वध प्रतिषेध अधिनियम के अंतर्गत प्रकरण दर्ज किया गया है।

बता दें कि गोवंश की तस्करी में लगभग 30 से ज्यादा मवेशियों को बांध कर ले जाया जा रहा था जिसमें से 4 की मौत भी हो गई है। अन्य मवेशियों का इलाज करवा कर उन्हें गौशाला में स्थानांतरित कर दिया गया है। गौ भक्तों का कहना है कि ऐसे लोगों पर तुरंत ही एक्शन लेते हुए गिरफ्तार का सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।