Dhar : नवरात्रि में आजीविका समूह की महिलाओं ने इको फ्रेंडली प्रतिमा बनाकर बढ़ाया रोजगार

यहां आजीविका समूह की महिलाओं ने इको फ्रेंडली प्रतिमा बनाकर बाजारों में स्टॉल लगाई है जिसे लोग खूब पसंद कर रहे हैं।

धार, डेस्क रिपोर्ट। देशभर में शारदीय नवरात्रि (Shardiya Navratri) उत्सव की धूम देखी जा रही है। वहीं मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के धार जिले (Dhar district) में भी नवरात्रि का पर्व बड़े धूम-धाम से मनाया जा रहा है। धार के प्रसिद्ध गढ़कालिका मंदिर में देवी के दर्शन के लिये लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं, यहां देवी की विशेष पूजा-अर्चना की जा रही है। इसी बीच यहां के बाजारों में देवी की मिट्टी से बनी प्रतिमाओं की भी खूब चर्चाएं हो रही हैं।

ये भी पढ़ें- Navratri 2021: नवरात्रि का दूसरा दिन, देवी ब्रह्मचारिणी को प्रसन्न करने ऐसे करें पूजा, इस मंत्र का जाप

कोरोना संक्रमण के चलते पिछले 2 वर्षों से सभी धर्म स्थल व मंदिर बंद थे, लेकिन इस बार सरकार ने नवरात्रि पर थोड़ी छूट दी है जिसके बाद माता के मंदिरों में श्रद्धालुओं की बडी संख्या पहुंच रही है। धार के प्रसिद्ध गढ़कालिका देवी मंदिर में घट स्थापना के साथ नवरात्रि की शुरुआत की गई जहां भारी संख्या में भक्त दर्शन के लिये पहुंचे। यहां एक खास बात भी सामने आई है जहां आजीविका मिशन के समूहों द्वारा इको फ्रेंडली मिट्टी की माता की प्रतिमाएं लोग खूब पसंद कर रहे हैं। दरअसल आजीविका समूह की महिलाओं ने इको फ्रेंडली प्रतिमा बनाकर बाजारों में स्टॉल लगाई है। इन महिलाओं का कहना है कि मिट्टी की माता की प्रतिमा बनाने से ना केवल इन्हें रोजगार मिल रहा है बल्कि पर्यावरण भी प्रदूषित होने से बच रहा है। महिलाओं का कहना है कि इन्हें मिट्टी की प्रतिमाएं बेचकर अच्छा खासा लाभ भी मिल रहा है।