दिग्विजय ने आरएसएस पर साधा निशाना, कहा ‘ ये लोग सिर्फ भ्रम फैलाते है’

80

धार। राजेश डाबी।

पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने एक बार फिर आरएसएस पर निशाना साधा है। मंगलवार को धार पहुंचे दिग्विजय सिंह ने आरएसएस पर भ्रम फैलाने का आरोप लगाते हुए आरएसएस को हिंदुओं संगठन ना होने की बात कही। उन्होंने कहा कि आरएसएस हिन्दूओं का संगठन नहीं है और नहीं रजिस्ट्रर्ड है। ये लोग सिर्फ भ्रम फैलाते हैं।

दिग्विजय सिंह ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि दुख इस बात का होता है कि गांधीजी की शारीरिक हत्या तो बहुत पहले हो चुकी थी लेकिन अब उनके विचारों की और उनकी आत्मा की हत्या सीएए कानून को लागू कर की जा रही है। उन्होंने संघ पर हमला करते हुए कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कोई रजिस्टर्ड संगठन नहीं है। ना ही उसका कोई अकाउंट है और ना ही उसकी कोई मेंबरशिप है। अगर कोई आतंकवादी घटनाओं में पकड़ा जाता है तो यह लोग कहते हैं कि यह हमारा सदस्य नहीं। इन्होंने नफरत की राजनीति करके पूरे देश में एक माहौल खड़ा किया है। हम इक_ा होकर इस नफरत के खिलाफ लड़ाई लड़ेंगे इस देश में हमेशा इंसानियत की कद्र हुई है।

सीएए कानून पर सिंह ने कहा कि भारतीय संविधान एक ऐसा डॉक्यूमेंट है जिसमें सभी को समान अधिकार मिला है। क्या कांग्रेस पार्टी उन लोगों का साथ नहीं देगी जिनके खिलाफ अन्याय हुआ, क्या कांग्रेस पार्टी सिर्फ वोट लेने के लिए है। कांग्रेस पार्टी सभी का साथ देगी हमारा संघर्ष इस कानून के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि मुझे दुख है कि सोनिया गांधी ने सभी प्रदेश के मुख्यमंत्रियों को कहां थी इस कानून के विरोध में खुलकर आइए लेकिन कुछ लोग सामने नहीं आ रहे हैं। अपने ऊपर लग रहे आरोपों पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि मेरे ऊपर मुस्लिम परस्त होने के आरोप लग रहे है। वही आरोप लगाए जाते कि मैं तुष्टीकरण की राजनीति करता हूं, लेकिन मैं इंसानियत परस्त हूं। महाराष्ट्र के डेढ़ सौ परिवार है उसी से आरएसएस का सरसंघचालक बनता है। यह संगठन प्रजातंत्र में भरोसा कर ही नहीं सकता, आज प्रजातंत्र पर सबसे बड़ी चोट कर रहा है तो वह आरएसएस कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here