यहां पेट्रोल से महंगा डीजल, कमलनाथ ने बोला हमला

भोपाल। देशभर में पेट्रोलियम पदार्थों की कीमत में हो बढ़ोत्तरी को लेकर प्रदेश कांग्रेस लगातार राज्य और केन्द्र सरकार पर हमला बोल रही है। इस बीच बुधवार को इतिहास में पहली बार एक लीटर डीजल की कीमत पेट्रोल से ज्यादा हो गई है। आज एक बार फिर तेल मार्केटिंग कंपनियों ने कीमतों में इजाफा कर दिया है। कंपनियों ने 18वें दिन पेट्रोल की कीमतों में तो कोई बदलाव नहीं किया लेकिन डीजल के दामों में 48 पैसे की बढ़ोतरी की है। जिसके बाद दिल्ली में एक लीटर डीजल की कीमत पेट्रोल से ज्यादा हो गई है। बुधवार को हुई बढ़ोतरी के बाद दिल्ली में एक लीटर डीजल की कीमत 79.88 रुपये हो गई है। जबकि पेट्रोल की कीमत 79.76 रुपये प्रति लीटर है।

पेट्रोल से अधिक डीजल की कीमत होने पर मप्र के पूर्व सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर केन्द्र और राज्य सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि आज अवसर राहत प्रदान करने का है लेकिन जनता को राहत प्रदान नहीं की जा रही है। पूरे देश में सबसे महँगा पेट्रोल मध्यप्रदेश में मिलने के बाद आज एक और बना रिकार्ड बना है। भारतीय इतिहास में पहली बार दिल्ली में डीजल का दाम पेट्रोल से महँगा हुआ है। लगातार आज 18 वे दिन भी डीज़ल की कीमत में वृद्धि से जनता पर निरंतर महंगाई की मार पड़ रही है। कमलनाथ ने तंज कसते हुए कहा कि पिछले 18 दिनो के दौरान पेट्रोल 8.50 रुपये और डीज़ल 10.48 रुपये प्रति लीटर महँगा हुआ है, लेकिन विपक्ष में मूल्यवृद्धि पर विरोध करने वाले आज ग़ायब और मौन है?

कमलनाथ ने मांग करते हुए कहा है कि केन्द्र सरकार व राज्य सरकार इस संकट काल में तत्काल पेट्रोल- डीजल पर लगे भारी करों में कमी कर जनता को राहत प्रदान करें। गौरतलब है कि इससे पहले भी कई बार कमलनाथ सरकार से पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में कमी की मांग कर चुके है। वहीं कमलनाथ के एलान के बाद आज मप्र में कांग्रेस ने पेट्रोल- डीजल की बढ़ी कीमतों के विरोध में सरकार के खिलाफ धरना- प्रदर्शन भी किया।