अच्छी खबर: सिंगरौली पुलिस बना रही ऑक्सीजन युक्त 20 बेड का अस्पताल

कोरोना से निपटने के बाद एक स्थायी पुलिस अस्पताल रहेगा और यहां स्वास्थ्य सेवक नियुक्त करने के लिए पीएचक्यू भोपाल से मांग की जोयगी।

सिंगरौली, राघवेन्द्र सिंह गहरवार। देश भक्ति-जनसेवा के सूत्र वाक्य के साथ समाज की सुरक्षा करने वाली पुलिस (Police) कोरोना महामारी (Corona Crisis) में सुरक्षा और जागरूकता के साथ साथ समाजसेवा जैसा पुनीत काम भी कर रही है। मध्यप्रदेश की सिंगरौली पुलिस (Singrauli Police) ने एक और कदम आगे बढ़ाया है। पुलिस (Police) ने कोतवाली के पीछे स्थित पुराने अजाक थाने को पुलिस अस्पताल (Police Hospital) का मूर्तरूप देने का फैसला किया है। फिलहाल यहाँ 20 बेड का कोविड केयर सेंटर (Covid Care Centre )बनाया जा रहा है। अगले सप्ताह तक ये कोविड केयर सेंटर बनकर तैयार हो जायेगा। इसमें एनसीएल परियोजना अमलोरी की भूमिका महत्वपूर्ण है।

दरअसल वैश्विक महामारी कोविड-19 की दूसरी लहर भयावह हो चुकी है। सरकारी अस्पताल व प्राइवेट नर्सिंग होम में बेड के लिए लाले पड़ गये हैं। कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। ऐसे में लोगों के साथ-साथ सरकारी महकमा भी परेशान है। अस्पतालों में बेड ऑक्सीन के लिए मची मारा मारी को देखते हुए सिंगरौली पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार सिंह के निर्देशन में आरआई आशीष तिवारी ने एक सराहनीय कदम उठाया है। पुराने अजाक थाने को पुलिस अस्पताल कोविड केयर सेंटर बनाने के लिए मूर्त रूप दिया जा रहा है। यहां पिछले कई दिनों से एनसीएल अमलोरी के सीएसआर मद से कार्य कराया जा रहा है और उम्मीद है कि जल्द ही 20 बेड का पुलिस अस्पताल कोविड केयर सेंटर बनकर तैयार हो जायेगा। जिसका कार्य तीव्र गति से किया जा रहा है और उम्मीद जतायी जा रही है कि अगले हप्ते तक पुलिस का यह कोविड केयर सेंटर सर्व सुविधा युक्त बनकर तैयार हो जायेगा।

ये भी पढ़ें – थाने में आरोपी की पिटाई का मामला पहुंचा मानव अधिकार आयोग, 7 दिन में मांगा जवाब

56 पुलिसकर्मी हो चुके हैं संक्रमित

जानकारी के मुताबिक पुलिस अधीक्षक समेत सिंगरौली के 56 पुलिसकर्मी  कोरोना के इस दूसरी लहर के चपेट में आने से संक्रमित हो चुके हैं। कई पुलिसकर्मियों का उपचार जिला चिकित्सालय सह ट्रॉमा सेंटर में चल रहा है। ट्रॉमा  सेंटर के कोविड केयर वार्ड में बेड व ऑक्सीजन की किल्लत को देख पुलिस जवानों के लिए अस्पताल बनाने की चर्चा रक्षित निरीक्षक आशीष तिवारी ने वरिष्ठ अधिकक्रियों से की।   जहां एसपी ने इसके लिए हरी झण्डी दे दी । अब यह पुलिस का अस्पताल बनकर तैयार हो रहा है। जहां पहली प्राथमिकता बीमार पुलिसकर्मीयों को मिलेगी। यदि बेड खाली रहता है तो अधिकारियों के निर्देश पर आम नागरिकों को भर्ती कराया जायेगा। इस अस्पताल में फिलहाल कलेक्टर के निर्देश पर जिला चिकित्सालय के चिकित्सक व अन्य स्वास्थ्यकर्मियों का डिजिटल के रूप में सहयोग लिया जायेगा।

पुलिस अस्पताल में ये रहेंगी सुविधाएं

जानकारी के अनुसार सिंगरौली पुलिस अस्पताल कोविड केयर सेंटर में ऑक्सीजन युक्त 20 बेड, मेडिकल उपकरण, टेबल, रैक जिसकी प्रत्येक संख्या 20 रहेगी। वहीं अलमारी, फ्रिज,3 स्ट्रेचर, 6 मेडिकल ट्राली, 50 लीटर का आर ओ , फ्रिजर, मेडिकल टेबल जैसी सुविधाएं रखने का प्रस्ताव है। ताकि अस्पताल के इन मूल भूत जरूरतों से दो-चार न होना पड़े। साथ ही अस्पताल में कूलर,शौचालय,बाथरूम, ऑक्सीजन सिलेण्डर रूम का निर्माण जैसे व्यवस्था की जा रही है। वहीं 50 ऑक्सीजन सिलेण्डर का स्टाक रखने की तयारी है। कोरोना से निपटने के बाद एक स्थायी पुलिस अस्पताल रहेगा और यहां स्वास्थ्य सेवक नियुक्त करने के लिए पीएचक्यू भोपाल से मांग की जोयगी।

ये भी पढ़ें – ” वैक्सीन, ऑक्सीजन और दवाओं के साथ PM भी गायब हैं”- राहुल गांधी

रीवा जोन में इकलौता पुलिस अस्पताल

खास बात ये है कि रीवा जोन में सिंगरौली में इकलौता अस्पताल बन रहा है और यह अस्पताल अगले सप्ताह में बनकर तैयार हो जायेगा ऐसा दावा किया जा रहा है। इस अस्पताल को तैयार कराने में पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र सिंह के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  अनिल सोनकर प्रत्येक दिन की प्रगति पर निगाह रखे हुए है और नगर पुलिस अधीक्षक विन्ध्यनगर देवेश कुमार पाठक एवं आरआई आशीष तिवारी, थाना प्रभारी कोतवाली अरुण पांडेय पूरे जोश खरोश एवं उत्साह के साथ निर्माण कार्य की मानीटरिंग तटस्थ होकर देख रहे हैं।एनसीएल अमलोरी प्रोजेक्ट के क्षेत्रीय महाप्रबंधक राजीव कुमार एवं अमलोरी प्रोजेक्ट से अमरेंद्र कुमार अपनी देखरेख में कार्य करवा रहे है ।

अच्छी खबर: सिंगरौली पुलिस बना रही ऑक्सीजन युक्त 20 बेड का अस्पताल अच्छी खबर: सिंगरौली पुलिस बना रही ऑक्सीजन युक्त 20 बेड का अस्पताल

इनका कहना है

पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र सिंह का कहना है कि कोविड 19 महामारी में पुलिस जवान दिनरात ड्यूटी कर जनमानस को बीमारी से बचाने का प्रयास कर रहे है जिसमें पुलिस जवान भी संक्रमित हो रहे है जिनके इलाज के लिए पुराने अजाक थाना भवन को पुलिस अस्पताल 20 बेड का कोविड केयर सेंटर तैयार कराने का कार्य तेज गति से है। अगले सप्ताह में यह अस्पताल बनकर तैयार हो जायेगा। इस अस्पताल में बीमार पुलिसकर्मियों का इलाज होगा।