करोड़ों खर्च, फिर भी बूंद-बूंद को तरसते बीनागंज और चाचोड़ा के लोग

249

गुना| विजय कुमार जोगी| गर्मियां शुरू होते ही जहां एक तरफ लोग कोरोना संकट से अभी तक निजात नहीं पा सके हैं ऐसे में अब पीने के पानी की किल्लत लोगों को अभी से सताने लगी है| गुना जिले के चाचौड़ा नगर परिषद द्वारा करोड़ों रुपए की राशि खर्च कर कर आरो प्रोजेक्ट लगाया गया लेकिन आज तक इस प्रोजेक्ट को नगर परिषद और निर्माणाधीन कंपनी जरूरी नहीं कर पाई जिसके चलते लोगों को इसका खामियाजा उठाना पड़ रहा है |

कई किलोमीटर दूर से लोग आज भी पानी लाने को मजबूर है बीनागंज चाचौड़ा क्षेत्र में जहां से दोनों नगरों में पीने का पानी सप्लाई होता है वहां की स्थिति भी दम तोड़ती नजर आ रही है और पीने के पानी को लेकर लोग परेशान दिख रहे हैं कई किलोमीटर दूर से लोग पीने के पानी ला रहे हैं|

इस मामले में जब नगर परिषद सीएमओ से मोबाइल पर बात की तो पता चला कि मेंटेनेंस के चलते यह परेशानी सामने आई है लेकिन सबसे बड़ा सवाल खड़ा होता है कि प्रदेश सरकार द्वारा करोड़ों रुपए की योजना चाचौड़ा और बीनागंज शहर को मिली थी लेकिन उसका काम आज भी ठंडे बस्ते में डाला हुआ है| जबकि अधिकारी यह कहते हैं कि जल्द से जल्द आरो प्रोजेक्ट शुरू होने वाला है जिससे बीनागंज और चाचौड़ा शहर को साफ और स्वच्छ पानी पर्याप्त मात्रा में मिल सके हैं लेकिन जनता के पीछे अपनी राजनीति चमकाने वाले नेता और अधिकारी अपनी कॉलर ऊंची करने में ही अपनी भलाई समझ रहे हैं लेकिन जनता की परेशानी को समझने वाला कोई नहीं मिल रहा है जिसका खामियाजा स्वयं जनता उठा रही है और लोग दूर-दूर से पीने के पानी लाने को मजबूर है और नगर परिषद द्वारा जो पानी नगर में सप्लाई भी किया जा रहा है तो वह पानी पीने योग्य भी नहीं है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here