स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही, नसबंदी कराने आई महिलाओं को फर्श पर लिटाया

गुना, गोविन्द जोगी| कुभराज नसबंदी कैंप में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है| जहां नसबंदी कराने आई महिलाओं को बेहोशी के बाद ठीक से ओढ़ने बिछाने का साधन नसीब नहीं हुआ| जबकि स्वास्थ्य विभाग द्वारा नसबंदी कराने आई प्रत्येक महिला के ऊपर स्वास्थ्य विभाग 700 से ₹800 खर्च करता है | इसके बावजूद भी स्वास्थ विभाग द्वारा कुभराज स्वास्थ्य केंद्र में कोई सुविधा उपलब्ध नहीं की गई|

नसबंदी कराने आई महिलाओं को गांव से लाने और ले जाने की सुविधा स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जाती है | लेकिन ग्रामीण अंचल से आई महिलाओं को उनके परिजन निजी वाहनों से लाए और ले जाते भी देखे गए | बड़ा सवाल स्वास्थ्य विभाग पर खड़ा होता है कि करोड़ों रुपए नसबंदी कैंप के नाम पर सरकार खर्च करती है लेकिन उस पैसे का किस तरह से डॉक्टरों द्वारा पलीता लगाया जा रहा है |

साफ देखा जा सकता है कि स्वास्थ्य विभाग के योजनाओं को किस तरह से अस्पताल के कर्मचारियों डॉक्टर की मिलीभगत से पलीता लगाया जा रहा है और सुविधाओं की बात करने वाले स्वास्थ्य विभाग मैं किस तरह से मरीजों के साथ व्यवहार किया जाता है यह इन तस्वीरों से साफ जाहिर होता है|