भीषण गर्मी में जल रहीं बिजली केबल, दम तोड़ रहे ट्रांसफार्मर, लगी आग

Burning-electric-cable-in-the-fierce-heat-the-transformer-down

ग्वालियर। शहर में पड़ रही तेज गर्मी ने इंसान का दम फुला दिया है पिछले कई दिनों से पारा लगातार 46 के आसपास टिका हुआ है जिसके चलते लोगों का हाल बेहाल है। इतना ही नहीं बढ़ते तापमान ने बिजली कम्पनी के लिए मुसीबत पैदा कर रखी है। तापमान के चलते लाइनें आपस में टकरा रहीं है,बिजली की केबल जल रहीं है और ट्रांसफार्मर्स दम तोड़ रहे हैं और उनमें आग लग रही है। 

गर्मी पूर्व मेंटेनेंस नहीं होने से बिजली की लाइनें दम तोड़ने लगीं हैं और उनमें फ़ॉल्ट आने लगे हैं जिसका खामियाजा जनता भुगत रही है। बीती रात शहर के  आधे से अधिक इलाके कई घंटे तक अँधेरे में रहे। शहर के 14 जोन के करीब 2 लाख से अधिक उपभोक्ताओं को 6 घंटे की अघोषित कटौती का सामना करना पड़ा। वजह रही लाइनों का आपस में टकरा जाना। दरअसल मोतीझील 132 KV सब स्टेशन के यार्ड से निकली 5 विभिन्न जोन की 33 KV की लाइनों से गोल पहाड़िया क्षेत्र की लाइन का टकरा जाना रही। लाइनों के टकरा जाने से 13 हजार एम्पियर का करंट पिअद हुआ और बड़े स्तर का फ़ॉल्ट हो गया। गर्मी का कहर ट्रांसफार्मर्स और केबल पर भीटूट रहा है। गर्मी की वजह से ही शहर में करीब 19 इलाकों की केबल अब तक जल चुकी हैं । पिन इन्सुलेटर  बर्स्ट हो रहे हैं । मुरार में जहाँ बढे हुए तापमान से एक ट्रांसफार्मर धुंआ छोड़ गया तो वहीँ दौलतगंज में ट्रांसफार्मर मे भयानक आग लग गई। जिस बुझाने में फायर ब्रिगेड को बहुत मेहनत करने पड़ी। ट्रांसफार्मर जल जाने से कई घंटे तक बिजली गुल रही और लोग गर्मी में परेशान रहे। बिजली कम्पनी के अफसरों की बात पर भरोसा करें तो उन्हें अप्रैल में मेंटेनेंस की परमिशन नहीं मिली अब जब चुनाव बाद मिली लेकिन तब तक तेज गर्मी अपना असर दिखाना शुरू कर चुकी है। 


ऐसे समझे  बिजली पर गर्मी का कहर

5MVA के पावर ट्रांसफार्मर का औसत तापमान 60 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए लेकिन इस समय 52 सब स्टेशनों पर मौजूद 32 पावर ट्रांसफार्मरों का औसत तापमान 72 से 80 डिग्री पहुँच गया है। जिसकी वजह से पावर ट्रांसफार्मर ट्रिप हो रहे हैं इन्हें ठंडा करने के लिए फीडर को 5 से 7 मिनट के लिए बंद करना पड़ता है। ये पावर ट्रांसफार्मर इस समय ओवर लोड भी हो रहे हैं । पावर ट्रांसफार्मरों की लोडिंग कैपेसिटी 220 एम्पियर होना चाहिए लेकिन AC और कूलर के कारण इनका लोड 245 एम्पियर तक पहुँच रहा है और जैसे ही ये 262 एम्पियर पर पहुँचता है ट्रिप हो जाता है। शहर में कुल 5345 विद्युत वितरण ट्रांसफार्मर हैं जहाँ से बिजली घरों ट्रक सप्लाई होती है । शहर में पड़  रही भीषण गर्मी के चलते पिछले 15 दिनों में सभी 18 जोन पर औसतन ये केबल 3 से 4 बार जल चुकी है। जिसके कारण ही बिजली कट करनी पड़ी।