ग्वालियर, अतुल सक्सेना| उप चुनावों की तारीखों के ऐलान से पहले ही भाजपा पर हमलावर कांग्रेस ने इसमें तेजी ला दी है। कोई भी मुद्दा कांग्रेस छोड़ना नहीं चाहती। ऐसा ही एक मुद्दा कांग्रेस के हाथ लगा है जिसपर उसने ट्वीट कर भाजपा पर हमला बोला है। इस हमले में उसमें सिंधिया, शिवराज और ऊर्जा मंत्री को निशाना बनाया है।

मार्च में भाजपा की सरकार बनने के बाद गर्मियों के मौसम में बिजली के भारी भरकम बिलों ने लोगों को परेशान कर रखा है। उपभोक्ताओं के ज्जर 2000 से लेकर 20,000रुपये तक के बिल पहुँच रहे हैं और बिल जमा नहीं होने की स्थिति बिजली कनेक्शन कट कर रही है। जिसे लेकर कांग्रेस ने भाजपा पर हमला किया है और ट्वीट कर सवाल किया है।

कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता एवं ग्वालियर चंबल संभाग मीडिया प्रभारी केके मिश्रा ने ट्वीट कर भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने लिखा “श्रीअंत” प्रदेश में 2000 रुपये के बिजली बिल का भुगतान ना होने पर उपभोक्ताओं की बिजली काटी जा रही है, आपके अनुचर ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के भाई के क्रेशर पर 95 लाख बाकी , आप व आपके कार्यकर्ता शिवराज जी कुछ Action लेंगे? इस ट्वीट के साथ केके मिश्रा ने एक अखबार की खबर की कटिंग पोस्ट की है। दर असल एक दैनिक अखबार ने ऊर्जा मंत्री के भाई के क्रेशर् पर 95 लाख का बिजली बिल बकाया हैडिंग के साथ खबर लगाई है जिसके बाद केके मिश्रा ने ये ट्वीट किया।

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह ने दिया करारा जवाब

केके मिश्रा के ट्वीट के बाद ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने करारा जवाब दिया है। उन्होंने ट्वीट किया कि ” मध्यप्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार समान व सद्भाव वाली जन सरकार है। मैं बिजली कंपनियों को निर्देशित करता हूँ कि वो उपभोक्ता के रूप में मेरे परिवार व शुभ चिंतकों और मप्र के सभी सम्माननीय विद्युत उपभोक्ताओं के साथ समान सम्मानपूर्वक व्यवहार करें। कांग्रेस और भाजपा के ये ट्वीट शहर में चर्चा का विषय बने हुए हैं।