पूर्व मंत्री का “महाराज” पर वार-कांग्रेस और जनता को गुलाम समझते थे, BJP ने बता दी हैसियत

13941

ग्वालियर।अतुल सक्सेना।

मंत्रिमंडल गठन के बाद से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जितना विपक्ष के निशाने पर नहीं है उतना ज्योतिरादित्य सिंधिया निशाने पर हैं। कांग्रेस के कई बड़े नेता इसे सिंधिया की पहली हार और भाजपा द्वारा उन्हें दिया गया पहला झटका बता रहे हैं। अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री , लहार विधायक डॉ गोविंद सिंह ने सिंधिया पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि “चौबे जी छब्बे बनने गए थे दुबे रह गए”, भाजपा ने उनकी हैसियत दिखा दी।

ग्वालियर में सिटी सेंटर क्षेत्र में अपने निजी आवास पर चुनिंदा पत्रकारों से बात करते हुए वरिष्ठ विधायक एवं पूर्व मंत्री डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि मंत्रिमंडल का गठन मुख्यमंत्री के अधिकार क्षेत्र का मामला है लेकिन हमारे ग्वालियर क्षेत्र के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया जो अपने आपको “हिज हाइनेस” समझते थे जो इस क्षेत्र के कांग्रेस कार्यकर्ताओं को गुलाम समझते थे, जो उनपर तानाशाही चला रहे थे भाजपा ने उनको उनकी हैसियत बता दी है। डॉ गोविंद सिंह ने तंज कसते हुए कहा ” चौबे जी छब्बे बनने गए थे दुबे रह गए” । उन्होंने कहा कि सिंधिया जी ने शिवराज सिंह, जेपी नड्डा और अमित शाह के यहाँ खूब चक्कर काटे, दर दर भटके लेकिन भाजपा ने कह दिया हैसियत में रहिये। पूर्व मंत्री ने कहा कि उन्हें कांग्रेस में बहुत सम्मान मिला, भाजपा में उनकी कोई अहमियत नहीं है।

एक सवाल के जवाब में डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि भाजपा ने गुमराह करके सरकार बनाई है हमारे लोगों को तोड़ा है इसका जवाब जनता उप चुनाव में देगी । किसकी कितनी हैसियत है, सब आँटे दाल के भाव पता चल जायेंगे। एक सवाल के जवाब में डॉ सिंह ने कहा कि यदि सिंधिया जी इतने बड़े नेता थे तो खुद अपने ही कार्यकर्ता से सवा लाख वोटो से क्यों हारे। उनमें यदि क्षमता थी, वो टिकट दिलाते थे, जिताते थे तो फिर खुद क्यों हार गए। उन्होंने कहा कि वे अपने क्षेत्र कि जनता पर डिक्टेटरशिप चलाते थे, गुलाम समझते थे इसलिए जनता ने ही हरा दिया। पूर्व मंत्री ने कहा कि अब आजादी के 75 साल होने वाले हैं, गुलामी चली गई, इन जैसे कई ज्योतिरादित्य अभी भी कांग्रेस में हैं जो इनसे ज्यादा ताकतवर हैं, चुनाव में सब पता चल जायेगा ।

डॉ गोविंद सिंह ने तंज कसते हुए कहा कि अब सिंधिया जी लोगों को किसानों को फोन कर हालचाल पूछ रहे हैं, किसी की घर का जीव जंतु भी बीमार हो रहा है तो उसके भी हालचाल पूछ रहे हैं अब सब याद आ रहा है पहले ही वे सब याद रख लेते तो क्यों चुनाव हारते। एक सवाल के जवाब में डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि मैं कोई बड़ा नेता नहीं हूँ पार्टी का साधारण कार्यकर्ता हूँ, पार्टी जो कहेगी वो करूँगा। सिंधिया के राज्यसभा में जगह पाने के सवाल पर पूर्व मंत्री ने कहा कि वे सौदा करके गए हैं,ईमान धरम सब बेच दिया। सम्मान के बाद भी कांग्रेस पार्टी छोड़ दी। उन्हें कई बार सांसद,केंद्रीय मंत्री, चुनाव प्रबंधन समिति प्रमुख, राष्ट्रीय महासचिव, लोकसभा में उपनेता और ना जाने क्या क्या जिम्मेदारी पार्टी ने दी फिर भी इच्छाएं पूरी नहीं हुई। बन जाये राज्यसभा सदस्य, लेकिन याद रखें कि सामंतशाही अब चली गई है। सिंधिया के साथ गए कुछ पूर्व विधायकों के अभी भी कांग्रेस में वापसी के सवाल पर डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि धोखेबाज और डुप्लीकेट लोगों की कांग्रेस में कोई जगह नहीं है। सिंधिया जी की वापसी की संभावना के सवाल पर पूर्व मंत्री डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया अपना खानदानी काम आगे बढ़ाएं वैसे उन्होंने कोई नया काम नहीं किया, वे अपने पूर्वजों की परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं, उनके पूर्वजों ने जिस तरह रानी लक्ष्मीबाई के साथ धोखा किया था वो इतिहास जानता है अब वही सिंधिया जी कर रहे हैं। डॉ गोविंद सिंह ने दावा किया कि कांग्रेस उप चुनाव में अधिक सीट जीतेगी और फिर से सरकार बनायेगी। शिवराज सिंह और भाजपा को पता चल जायेगा कि किसकी कितनी हैसियत है। जनता भी जवाब देने के लिए बैठी है अभी लोहा गरम है धोखा देने वालों को जनता सबक सिखायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here