Gwalior News : अवैध परिवहन में लिप्त 14 वाहन एवं तीन स्थानों पर अवैध रूप से भण्डारित रेत जब्त

जिला प्रशासन की संयुक्त टीम में एसडीएम झांसी रोड विनोद सिंह, एसडीएम मुरार अशोक चौहान, एसडीएम ग्वालियर सिटी अतुल सिंह, एसडीएम लश्कर नरेन्द्र बाबू यादव व एसडीएम ग्वालियर ग्रामीण सूर्यकांत त्रिपाठी सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी व पुलिस बल शामिल था। 

Atul Saxena
Published on -
Illegal sand transportation

Gwalior News :  ग्वालियर जिला प्रशासन द्वारा रेत व पत्थर के अवैध कारोबार के खिलाफ शुरू की गई मुहिम के तहत आज भी संयुक्त टीम ने बड़ी कार्रवाई की, प्रशासन की संयुक्त टीम ने आज अलग अलग जगह कार्रवाई करते हुए अवैध परिवहन में लिप्त 14 वाहन जब्त किये और एवं तीन स्थानों पर अवैध रूप से भण्डारित की गई बड़ी मात्रा में रेत जब्त की, आरोपियों के खिलाफ खनिज अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किये गए हैं।

5 मिनी ट्रक व अवैध गिट्टी से ओवर लोडेड 9 ट्रक जब्त 

ग्वालियर जिले में रेत व पत्थर के अवैध उत्खनन, परिवहन व भण्डारण के खिलाफ चलाई जा रही विशेष मुहिम के तहत शुक्रवार को भी जिला प्रशासन व पुलिस की संयुक्त टीम ने बड़ी कार्रवाई की है। संयुक्त टीम ने छापामार कार्रवाई कर तीन स्थानों पर अवैध रूप से भण्डारित रेत जब्त किया है। साथ ही अवैध परिवहन में लिप्त रेत के 5 मिनी ट्रक व अवैध गिट्टी से ओवर लोडेड 9 ट्रक सहित कुल 14 वाहन जब्त किए हैं। जब्त किए गए सभी वाहन संबंधित थानों में पुलिस की अभिरक्षा में खड़े कराए गए हैं। रेत व पत्थर के अवैध कारोबार में लिप्त लोगों के खिलाफ खनिज अधिनियम के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किए गए हैं।
जिला खनिज अधिकारी प्रदीप भूरिया ने बताया कि जिला प्रशासन की संयुक्त टीम ने शुक्रवार को आईटीएम के समीप एवं बरा गाँव क्षेत्र में छापामार कार्रवाई की। साथ ही शहर के आस-पास सड़क मार्गों पर जाँच कर रेत व पत्थर के अवैध परिवहन में लिप्त वाहन पकड़े गए।

कार्यवाही ने 5 SDM, खनिज अधिकारी, पुलिस अधिकारी शामिल  

जिला प्रशासन की संयुक्त टीम में एसडीएम झांसी रोड विनोद सिंह, एसडीएम मुरार अशोक चौहान, एसडीएम ग्वालियर सिटी अतुल सिंह, एसडीएम लश्कर नरेन्द्र बाबू यादव व एसडीएम ग्वालियर ग्रामीण सूर्यकांत त्रिपाठी सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी व पुलिस बल शामिल था।

About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News