Gwalior News : पैसा डबल करने के बहाने 11 लाख की ठगी करने वाला चिटफंडी गिरफ्तार

पुलिस आरोपी से ठगे गए 11 लाख रुपये के सम्बन्ध में पूछताछ कर रही है। 

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ग्वालियर पुलिस ने एक ऐसे चिटफंडी को गिरफ्तार (Chitfundi Arrested) किया है जो लोगों के साथ पैसा डबल करने के  नाम पर धोखाधड़ी और ठगी कर रहा था। आरोपी के खिलाफ एक महिला ने 11 लाख रुपये की ठगी की शिकायत पुलिस (Gwalior Police) में दर्ज कराई थी।

ग्वालियर एसएसपी अमित सांघी (Gwalior SSP Amit Sanghi) को मुखबिर ने सूचना दी कि चिटफंड कंपनी बनाकर ठगी करने वाला एक व्यक्ति ग्वालियर आया है बस स्टैंड (Gwalior News) पर शहर से बाहर जाने का प्रयास कर रहा है।  सूचना मिलते ही पुलिस हरकत में आई और एसएसपी ने  एडिशनल एसपी क्राइम राजेश दंडोतिया (Adsp Rajesh Dandotiya) को सम्बंधित थाने और क्राइम ब्रांच की टीम के साथ दबिश के निर्देश दिए।

ये भी पढ़ें – MP News : भाजपा विधायक और उनका बेटा हुआ दोषमुक्त, जानें क्या है मामला

अधिकारियों का निर्देश मिलते ही सीएसपी मुरार रत्नेश सिंह तोमर और डीएसपी क्राइम विजय भदौरिया क्राइम ब्रांच थाना प्रभारी दामोदर गुप्ता एवं गोला का मंदिर थाना प्रभारी विनय शर्मा की टीम के साथ बस स्टैंड के लिए रवाना हुए।  वहां खड़ा एक युवक पुलिस को देखते ही भागने लगा जिसे पुलिस ने पकड़ लिया।

ये भी पढ़ें – MP News : दो महिलाओं के बीच सड़क पर मारपीट, पुलिस ने कराया समझौता

पकड़े गये आरोपी से जब पुलिस ने पूछताछ की तो उसने अपने साथियों के साथ मिलकर फरियादी महिला के साथ ठगी की बारदात करना स्वीकार किया गया। पुलिस ने आरोपी राजकुमार वर्मा को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ चिटफंड की धाराओं सहित अन्य अलग अलग धाराओं में मामला दर्ज कर लिया।  पुलिस आरोपी से ठगे गए 11 लाख रुपये के सम्बन्ध में पूछताछ कर रही है।

ये भी पढ़ें – Semi -Con India के उद्घाटन सत्र में पीएम नरेंद्र मोदी ने गिनाये भारत के 6 सूत्र

 ये है पूरा मामला 

आपको बता दें कि न्यू रचना नगर निवासी एक महिला ने 19 अप्रैल 2022 को गोला का मंदिर थाने में शिकायत दर्ज कराई थी उससे कुछ लोगों ने गोल्डन राज लाइफ केयर कंपनी में पैसा जमा कराया। लेकिन आरोपियों ने ना तो 11 लाख का बांड दिया और न ही पैसे वापस किये। महिला की शिकायत के बाद से पुलिस चिटफंडी की तलाश कर रही थी। पुलिस गिरफ्तार आरोपी से अन्य साथियों के बारे में जानकारी जुटा रही है।