Gwalior News : पिज्जा में नशीला पदार्थ खिलाकर युवती के साथ दुष्कर्म, ब्लैकमेल कर सोने के जेवर उतरवाए, आरोपी गिरफ्त में

परेशान युवती अपने घर बांदा पहुंची परिवार को पूरी बात बताई और पुलिस में शिकायत दर्ज कराई, बांदा पुलिस ग्वालियर आई और आरोपी राकेश लोधी को गिरफ्तार कर लिया, चूँकि घटनाक्रम ग्वालियर का है इसलिए यूपी की बांदा पुलिस ने केस डायरी ग्वालियर पुलिस को सौंप दी है।

Gwalior News

Gwalior News : ग्वालियर में दुष्कर्म का एक मामला सामने आया है, आरोपी ने एक युवती से दोस्ती कर उसे पिज्जा में नशीला पदार्थ खिलाया और फिर उसके साथ दुष्कर्म किया इतना ही नहीं आरोपी ने छात्रा के अश्लील फोटो खींच लिए और फिर उसे ब्लैकमेल कर एक लाख रुपये कीमत के जेवर ठग लिए, आरोपी ने फिर 3 लाख की डिमांड की जिसे नहीं देने पर उसके फोटो वायरल कर दिए,  परेशान होकर छात्रा ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई, पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

दोस्ती में धोखा कर किया दुष्कर्म 

एडिशनल एसपी निरंजन शर्मा के मुताबिक बांदा यूपी में रहने वाली नर्सिंग की छात्रा 2022 में जॉब के लिए ग्वालियर आई थी, यहाँ रहने वाले राकेश लोधी ने उसे एक प्राइवेट अस्पताल में नौकरी दिलवा दी और किराये से कमरा दिलवा दिया, दोनों के बीच दोस्ती हो गई और एक दिन राकेश लोधी ने पिज्जा मंगाकर उसमें नशीला पदार्थ मिलाकर उसे खिला दिया और फिर उसके साथ दुष्कर्म किया।

अश्लील फोटो खींचे, ब्लैकमेल किया 

शातिर आरोपी ने दुष्कर्म के दौरान युवती के फोटो खींच लिए और युवती को ब्लैकमेल करने लगा , आरोपी ने युवती के करीब एक लाख रूपए के सोने की चेन अंगूठी उतरवा ली और फिर उससे तीन लाख रुपये की डिमांड करने लगा जब युवती ने तीन लाख रुपये देने से इंकार कर दिया तो फिर आरोपी ने उसके अश्लील फोटो वायरल कर दिए।

आरोपी गिरफ्तार, पुलिस ले रही एक्शन 

परेशान युवती अपने घर बांदा पहुंची परिवार को पूरी बात बताई और पुलिस में शिकायत दर्ज कराई, बांदा पुलिस ग्वालियर आई और आरोपी राकेश लोधी को गिरफ्तार कर लिया, चूँकि घटनाक्रम ग्वालियर का है इसलिए यूपी की बांदा पुलिस ने केस डायरी ग्वालियर पुलिस को सौंप दी है, पुलिस आरोपी के खिलाफ कार्रवाई कर रही है।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ....पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News