Gwalior News : वो रात के अँधेरे में निकलती है, घरों की घंटी बजाती है, तरह तरह की आवाजें निकालती है, दहशत में लोग, पुलिस कर रही तलाश

महिला की इस हरकत से लोग डरे हुए हैं किसी अनिष्ट की आशंका से घिरे लोग रात को जल्दी घर आ जाते है और फिर दरवाजा भी नहीं खोलते, महिला की ये हरकत क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गई है, लोगों ने सीसीटीवी फुटेज वायरल कर दिए हैं जिससे लोग सतर्क रहें। 

lonely girl at night

Gwalior News : ग्वालियर शहर के ग्वालियर थाना क्षेत्र के एक मोहल्ले के लोग एक महिला के कारण दहशत में जी रहे हैं, महिला रात के अँधेरे में निकलती है, लोगों के घरों की घंटी बजाती है और दरवाजा नहीं खुलने पर वो रोने की या फिर तरह तरह की आवाजें निकालती है और गायब हो जाती है, घटना सीसीटीवी में कैद हुई है , वीडियो सोशल मीडिया पर  वायरल हो रहे हैं पुलिस पूरे मामले की तफ्तीश कर रही है।

रात में लोगों के घरों की डोर बेल बजाती है, आवाजें निकालती है  

जानकारी के मुताबिक ग्वालियर थाना क्षेत्र के घास मंडी, चन्दन नगर के लोग इन दिनों एक महिला के कारण दहशत में हैं, ये महिला देर रात करीब 1 बजे मोहल्ले में आती है, लोगों के घर के बाहर ली घंटी (डोर बेल ) बजाती है और नहीं खुलने पर रोती है या फिर तरह तरह की आवाज निकालती है फी र्गायब हो जाती है।

महिला की हरकत सीसीटीवी में कैद 

महिला की इस हरकत से लोग डरे हुए हैं किसी अनिष्ट की आशंका से घिरे लोग रात को जल्दी घर आ जाते है और फिर दरवाजा भी नहीं खोलते, महिला की ये हरकत क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गई है, लोगों ने सीसीटीवी फुटेज वायरल कर दिए हैं जिससे लोग सतर्क रहें।

पुलिस कर रही महिला की तलाश 

उधर सीसीटीवी फुटेज पुलिस के पास भी पहुंचे हैं, सीएसपी शुभा श्रीवास्तव का कहना है कि हमारे पास अभी कोई लिखित आवेदन नहीं आया है लेकिन  वायरल सीसीटीवी फुटेज हमने भी देखा है उस आधार पर महिला को तलाश करने के प्रयास किये जायेंगे, अब उसके पकड़ में आने के बाद ही पता चल सकेगा कि वो ऐसा क्यों कर रही है।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ....पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News