पेयजल संकट की हकीकत जानने सड़क पर उतरे विधायक, अधिकारियों को व्यवस्था सुधारने के निर्देश

ग्वालियर/अतुल सक्सेना

गर्मी का मौसम आते ही ग्वालियर की दक्षिण विधानसभा के अधिकांश हिस्से गंभीर पेयजल समस्या से जूझने लगते हैं। हालांकि इस बार पहले से पर अंकुश लगाने के प्रयास शुरू किये गए थे लेकिन कोरोना के कारण जारी लॉक डाउन के चलते इस पर अमल नहीं हो पाया। नतीजा ये हुआ कि लोग अभी से ही पेयजल के लिये परेशान होने लगे। जनता की शिकायत के बाद कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने मोहल्लों में जाकर हकीकत देखी।

कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक मंगलवार की शाम वार्ड 52 स्थित गुड़ा पीपरी एवं वार्ड 55 के अवाड़पुरा क्षेत्र में पीएचई के अधिकारियों के साथ पहुंचे। वहां पहुंचकर विधायक पाठक ने क्षेत्रीय लोगों से पानी की समस्या के बारे में जानकारी ली एवं पीएचई के अधिकारियों को निर्देश दिए कि शीघ्र अति शीघ्र पेयजल सप्लाई को सुगम बनाने के लिए हर संभव प्रयास करें। किसी भी हालत में लोगों को पीने के पानी की समस्या नहीं आना चाहिए । पीएचई के अधिकारियों ने बताया कि पिछले लगभग 10 दिन से लगातार पेयजल सप्लाई के समय बिजली कटौती होने के कारण पेयजल आपूर्ति सही तरीके से नहीं हो पा रही है । पीएचई अधिकारियों की बात सुनने के बाद विधायक श्री पाठक ने बिजली विभाग के अधिकारियों से बात कर कहा कि विद्युत विभाग का मेंटेनेंस का कार्य पेयजल सप्लाई के समय को छोड़कर किया जाए जिससे लोगों को पीने के पानी मिलने में तकलीफ न उठाना पड़े।।

विधायक गुड़ा पीपरी क्षेत्र में पीएचई के एई प्रवीण दीक्षित के साथ पहुंचे वहां पर अभी हाल ही में जो चार बोरिंग की गई थी उनको तत्काल चालू कराने के लिए निर्देश दिए अधिकारियों ने 10 दिन में बोरिंग शुरू कराने के लिए आश्वस्त किया है। इसके बाद विधायक पाठक  पीएचई वी पी त्रिपाठी के साथ अवाड़ पुरा पहुंचे वहां पर वी पी त्रिपाठी ने बताया कि टंकी भरने के लिए पानी उपलब्ध कराने के लिए थोड़ा समय बढ़ाया जाए एवं बिजली आपूर्ति सही समय से हो तो हम लोगों को पर्याप्त पेयजल उपलब्ध करा सकेंगे। इस पर विधायक पाठक ने संबंधित अधिकारियों को पेयजल सप्लाई में आ रही कमियों को दूर करने के लिए निर्देश दिए। विधायक ने कहा कि मैंने पीएचई और बिजली कंपनी के अधिकारियों से कहा है कि सामंजस्य बनाये जिससे क्षेत्र में पेयजल की दिक्कत ना हो। उन्होंने बताया कि बुधवार को उन्होंने दक्षिण विधानसभा में पेयजल वितरण पर चर्चा के लिए नगर निगम आयुक्त से चर्चा के लिए समय लिया है। उनसे मुलाकात कर एक कार्ययोजना बनाई जायेगी।