सिंधिया समर्थक पूर्व विधायक ने जताई अपनी हत्या की आशंका,खुद पर हुए हमले में बताया कांग्रेस का हाथ

ग्वालियर/अतुल सक्सेना

घर में घुसकर एक छात्र की हत्या की बाद परिजनों को सांत्वना देने पहुंचे सिंधिया समर्थक पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल अपने ऊपर हुए हमले के बाद मंगलवार शाम को सामने आये। भाजपा कार्यालय पहुँचकर उन्होंने कहा कि मेरी हत्या हो सकती थी और ये साजिश कांग्रेस ने रची थी। इसके पीछे कौन लोग थे उनकी जाँच होनी चाहिए।

सिरोल थाना क्षेत्र के हुरावली में हुई छात्र पारस जौहरी(जाटव) की घर में घुसकर हुई हत्या के बाद परिजन जब सिरोल थाने के बाहर शव रखकर हंगामा कर रहे थे तभी क्षेत्र के पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल उन्हें न्याय का भरोसा और सांत्वना देने पहुंचे थे। तभी कुछ लोगों ने निशाना बनाकर उन पर हमला कर दिया। उनकी गाड़ी पर पत्थर फेंक कर काँच तोड़ दिए जो मुन्नालाल गोयल के सिर में धँस गए उनके सिर में चार टाँके आये। घटना के बाद वे तुरंत वहाँ से निकल गए। हालांकि सिरोल टीआई केपी यादव ने इस तरह की किसी भी घटना से इंकार कर दिया था लेकिन शाम को मुन्नालाल गोयल भाजपा कार्यालय मुखर्जी भवन पहुंचे और पुलिस के दावे को गलत साबित कर दिया। बताया जा रहा है कि पुलिस के पास घटना का सीसीटीवी फुटेज भी मौजूद हैं।

मुखर्जी भवन पहुंचे सिंधिया समर्थक पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए कहा कि छात्र की हत्या की सूचना पर जब मैं परिजनों से मिलने पहुंचा तो मेरे पहुँचते ही वहाँ मौजूद चार पांच अज्ञात हमलावरों ने मुझपर हमला कर दिया। हमला निशाना साध कर किया गया था। हमले में मेरी गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई काँच टूट गया जो मेरे सिर में धँस गया। सिर में चार टाँके आए। गोयल ने कहा कि यदि समय रहते मेरा ड्राइवर यदि गाड़ी बैक नहीं करता तो मेरी हत्या हो सकती थी। उन्होंने आरोप लगाया कि इसके पीछे कांग्रेस का हाथ है क्योंकि कांग्रेस का मेरा अनुसूचित जाति वर्ग के पास जाना पसंद नहीं आया। उसे डर था कि ये लोग भाजपा के तरफ जा रहे है जबकि हकीकत ये है कि मेरा और अनुसूचित जाति वर्ग का पुराना रिश्ता है मैं हर समय इनके साथ खड़ा रहा हूँ। आज भी मेरी इनके साथ सभाएं थी इसलिए बौखलाकर कांग्रेस ने ये हमला करवाया। इसके पीछे कौन लोग थे पुलिस को इसकी जाँच करनी चाहिए। मैंने इसकी शिकायत दर्ज कराई है। पूर्व विधायक ने कहा मैंने हमलावरों को माफ कर दिया ईश्वर उन्हें सद्बुद्धि दे। लेकिन इस हमले में शामिल लोगों के चेहरे जल्दी ही बेनकाब होंगे। मुन्नालाल गोयल ने कहा कि कांग्रेस चाहे हमला कराये या हत्या कराये इससे मैं डरने वाला नहीं हूँ। पत्रकार वार्ता के दौरान सांसद विवेक नारायण शेजवलकर, पूर्व मंत्री गौरी शंकर बिसेन और भाजपा जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी भी मौजूद थे।