वेतन मांगने आया अतिथि शिक्षक, कलेक्टर के सामने नहीं लिख सका SEPTEMBER

7800
teacher-could-not-write-spelling-of-september-in-front-of-collector-

 ग्वालियर । शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए सरकारें बहुत प्रयास करती हैं लेकिन शिक्षकों की योग्यता को लेकर सवाल उठते रहते हैं। ऐसा ही मामला ग्वालियर में उस समय सामने आया जब अपना वेतन मांगने कलेक्टर के पास पहुंचा अतिथि शिक्षक कलेक्टर के सामान्य सवालों के जवाब नहीं दे पाया इतना ही नहीं कलेक्टर के सामने वो ‘सितम्बर’ की स्पेलिंग भी नहीं लिख पाया। 

कलेक्टर की जन सुनवाई में आज एक अतिथि शिक्षक भरोसा कुशवाह पहुंचा। उसने कलेक्टर को एक आवेदन देते हुए बताया कि वो करहिया के प्रायमरी स्कूल में पदस्थ है।  उसे 52 दिन का वेतन नहीं मिला है । अतिथि शिक्षक ये भी चाहता था कि उसे एक प्रमाणपत्र भी इस बात का दिया जाये कि उसने बहुत अच्छा पढाया है। भरोसा कुशवाह की बात सुनने के बाद कलेक्टर अनुराग चौधरी ने उससे कुछ सामान्य सवाल किये जिसका जवाब वो नहीं दे सका इसके अलावा जब कलेक्टर ने उससे सितम्बर की स्पेलिंग लिखने के लिए कहा तो वो भी नहीं लिख पाया। 

अतिथि शिक्षक से बात करने के बाद कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को मामले की जांच के निर्देश दिए। मीडिया को कलेक्टर ने बताया कि अक्सर शिक्षकों की योग्यता को लेकर सवाल उठते हैं इसलिए मैंने कुछ  सामान्य से सवाल उससे पूछे थे जिसके जवाब वो नहीं दे पाया। उधर अपनी सफाई में भरोसा कुशवाह का कहना था कि वो हिंदी पढ़ाता है उसकी अंग्रेजी में जानकारी अच्छी नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here