बारना के 2 और बरगी बांध के 3 गेट खुले, कभी भी छोड़ा जा सकता तवा से पानी

इटारसी, राहुल अग्रवाल।  माैसम (weather) में फिर एक बार बदलाव आया है। गुरुवार काे दिन में हल्की बारिश हुई। माैसम विभाग के अनुसार उत्तरप्रदेश से विदर्भ तक जा रही द्राेणिका और अरब सागर से मिल रही नमी के कारण यह बारिश हुई है। अब बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) में भी नया सिस्टम बन रहा है। इससे अगले एक सप्ताह कभी तेज ताे कभी हल्की बारिश का अनुमान है।

गुरुवार काे सुबह धूप निकली लेकिन दाेपहर हाेते-हाेते बादल आए गए और बारिश शुरू हाे गई। इधर, गुरुवार को बारना बांध के दो गेट खोले गए हैं। वहीं बरगी के तीन गेटों से 15 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इस बीच तवा बांध का जलस्तर भी 1165.80 फीट पर है। तवा बांध से कभी भी पानी छोड़ा जा सकता है। हालांकि नर्मदा का जलस्तर अभी 938.10 फीट पर है। फिलहाल बाढ़ की आशंका नहीं है। एडीएम जीपी माली ने बताया कि तवा बांध सहित बारिश पर प्रशासन की नजर है। फिलहाल बाढ़ आने जैसी आशंका नहीं है।

माैसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला के अनुसार अभी माैसम एक सप्ताह ऐसा ही रहेगा। इसके तीन कारण हैं। एक द्राेणिका उत्तरप्रदेश से विदर्भ मप्र हाेकर जा रही है। दूसरा अरब सागर से नमी मिल रही है। वहीं बंगाल की खाड़ी में बन रहे चक्रवात का असर भी है। अगले एक सप्ताह तक रुक-रुक कर ऐसा ही माैसम रहेगा। कभी तेज ताे कभी धीमी बारिश हाेने का अनुमान है। बारिश का सीजन 30 सितंबर तक रहता है। अभी मानसून गया नहीं है। अभी 20 दिन बारिश के बचे हैं। मानसून सितंबर के बाद जाएगा।