इंदौर में चलाया गया बाल भिक्षावृत्ति रोकथाम अभियान, दी गई समझाइश

कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में सभी दलों के सदस्यों की बैठक आयोजित की गई और अभियान से संबंधित जानकारी प्रदान की गई।

Indore News : इंदौर जिले को बालभिक्षुक मुक्‍त बनाने के लिए कलेक्टर आशीष सिंह द्वारा निर्देश जारी किया गया था। जिसके तहत विभिन्न विभागों के 7 दलों का गठन किया गया है। गठित दलों द्वारा विभिन्न चौराहों एवं धार्मिक स्थलों पर बाल भिक्षावृत्ति रोकथाम अभियान चलाया गया। साथ ही कुल 58 पंडित, मौलवी, आमजन सहित 35 परिवारों, माता-पिता और 17 बालकों को दल द्वारा समझाइश दी गई।

सदस्यों की बैठक आयोजित

वहीं, दोबारा भिक्षावृत्ति करते पाए जाने पर किशोर न्याय अधिनियम 2015 एवं संशोधित अधिनियम 2021 के अंतर्गत कार्यवाही की जाएगी। साथ ही उन्हें अवगत कराया गया कि दोषी को 5 साल तक का कारावास और 1 लाख रूपये तक का जुर्माना हो सकता है। जिसके बाद कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में सभी दलों के सदस्यों की बैठक आयोजित की गई और अभियान से संबंधित जानकारी प्रदान की गई।


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News