क्राइम पेट्रोल की अभिनेत्री प्रेक्षा मेहता ने लगाई फांसी, फेसबुक पर लिखी ये आखरी लाइन

इंदौर।आकाश धोलपुरे

मिनी मुंबई से मुंबई की और उड़ान भरने वाली इंदौर की प्रेक्षा मेहता नामक टीवी सीरियल अभिनेत्री और यु ट्यूब सेलिब्रिटी फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। दरअसल, लॉक डाउन के बाद से प्रेक्षा मेहता उम्र 25 वर्ष इंदौर में आ गई थी।वो मुंबई में टीवी सीरियल में काम करती थी , क्राइम पेट्रोल के भी कई प्रोग्राम में उसने अभिनय किया था, युवती के पिता के मुताबिक लॉक डाउन होने के पर वह घर आ गई थी, मुम्बई में जिस तरह कोरोना बढ़ता जा रहा है और लगातार लॉक डाउन होने से, युवती को लगा कि लंबे समय तक काम नही मिलेगा। जिसके चलते डिप्रेशन में आकर यह कदम उठाया है , फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

लॉक डाउन की वजह से अभिनेत्री प्रेक्षा मेहता जैसी कई लड़कियां है जिन्हें काम की चिंता है। बता दे कि थिएटर में प्रेक्षा की शुरुआत अभिजीत वाडकर, संतोष रेगे और नगेंद्र सिंह राठौर के नाट्य ग्रुप ‘ड्रामा फैक्टरी’ से हुई। मंटो का लिखा नाटक ‘खोल दो’ उनका पहला प्ले था। इसमें मिले जबरदस्त रिस्पांस के बाद वो ‘खूबसूरत बहू, बूंदें, राक्षस, प्रतिबिंबत, पार्टनर्स, हां, थ्रिल, अधूरी औरत’ जैसे नाटकों में काम कर चुकी हैं। उन्हें अभिनय के लिए भी तीन राष्ट्रीय नाट्य उत्सवों में फर्स्ट प्राइज मिल चुका है। एकल नाट्य ‘सड़क के किनारे” में जानदार अभिनय के लिए भी उन्होंने अवार्ड जीता। ये माना जा रहा है अभिनय की ललक और दीवानगी ने ही प्रेक्षा को खुद की जान लेने को मजबूर कर दिया होगा। प्रेक्षा तो मौत की आगोश में समा गई लेकिन अपने मौत के पीछे कई सवाल छोड़ गई जिसके जवाब आने वाला वक़्त ही दे पाएगा। वही प्रेक्षा के आखरी सोशल मीडिया स्टेटस ” सबसे बुरा होता है सपनो का मर जाना” ने एक बड़ा सवाल कोरोना संकट में खड़ा कर दिया है।