कोरोना के बीच इंदौर में दिखा जन्माष्टमी का उत्साह, जगह जगह मंदिरों में किया जा रहा है पूजन

इंदौर, आकाश धोलपुरे

इंदौर सहित देशभर में बुधवार को कृष्ण जन्माष्टमी धूमधाम से मनाई जा रही है। इस मौके पर शहर के मंदिरों पर भगवान श्री कृष्ण का आकर्षक श्रृंगार कर भोग भी अर्पित किया गया। इंदौर के प्राचीन हंसदास मठ पर हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी मंदिर परिवार के साथ ही जन्माष्ठमी पर्व मनाया गया। हालांकि इस बार जन्माष्टमी पर्व पर कोरोना का असर देखा गया। पूजन के दौरान यह रणछोड़ दास भगवान का अभिषेक किया गया वहीं बाल स्वरूप लड्डू गोपाल को पंडितों ने झूला भी झुलाया। मन्दिर के पुजार पवन शर्मा ने बताया कि इस वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण आम भक्तों को मन्दिर में प्रवेश नहीं दिया गया लेकिन सोशल मीडिया के माध्यम से भक्तों को दर्शन करवाए गए है।

इंदौर में घरों से लेकर मंदिरों तक मे भगवान के लड्डू गोपाल अवतार का पूजन किया जा रहा है। शहर के ह्रदय स्थल राजबाड़ा पर स्थित बांके बिहारी मंदिर और यशोदा मंदिर में भी जन्माष्टमी का उत्साह देखा गया। हालांकि कुछ स्थानों पर कल भी ये त्योहार मनाया गया लेकिन अधिकतर स्थानों पर आज जन्माष्टमी मनाई जा रही है। राजबाड़ा स्थित बांके बिहारी मंदिर में आज भगवान का विशेष श्रृंगार किया गया, वही यशोदा माता मंदिर में भी जय श्री कृष्णा की गूंज सुनाई देने के साथ ही भगवान की आराधना की जा रही थी।

इस वर्ष बहुत कम श्रद्धालु मंदिर में दर्शन करने पहुंचे जिसकी वजह साफ है कोविड नियमो का पालन और कोरोना के फैलाव को रोका जा सके। जहां मन्दिर में पुजारियों का मानना है कि प्रशासन के निर्देशो के मुताबिक ही आज मंदिरों में जन्माष्टमी का पर्व मनाया जा रहा है। वही श्रद्धालुओं ने देश भर की सलामती और खुशहाली की प्रार्थना भगवान श्रीकृष्ण से की। मंदिरों में आज रात 12 बजे विशेष पूजन के साथ ही माखन और मिश्री का प्रसाद भी वितरित किया जाएगा।