इंदौर क्राइम ब्रांच और पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 3 दर्जन से ज्यादा एटीएम लूटने वाले अंतरराज्यीय चोर गिरोह के 3 आरोपी गिरफ्तार

इंदौर क्राइम ब्रांच और परदेशीपुरा थाना पुलिस ने एटीएम मशीन में छेड़छाड़ कर चोरी की वारदात को अंजाम देने वाली अंतरराज्यीय चोर गिरोह (interstate thief gang) के 3 सदस्यों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर (Indore) में क्राइम ब्रांच (crime branch) और पुलिस (police) ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए एटीएम लूटने (ATM Robbery) वालों गिरोह का पर्दाफाश किया है। इंदौर क्राइम ब्रांच और परदेशीपुरा थाना पुलिस ने एटीएम मशीन में छेड़छाड़ कर चोरी की वारदात को अंजाम देने वाली अंतरराज्यीय चोर गिरोह (interstate thief gang) के 3 सदस्यों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पकड़े गए आरोपियों ने इंदौर शहर में अलग-अलग जगह स्थित एटीएम से फर्जी तरीके से रुपए भी विड्रॉल किए थे। आरोपियों से हथियार, एटीएम व नगद रुपये पुलिस ने बरामद किया है। पकड़े गए सभी आरोपी यूपी के प्रतापगढ़ के रहने वाले है।

यह भी पढ़ें…शिवराज के इस मंत्री ने नेहरू मॉडल के इतिहासकारों को कहा बेईमान और बदमाश

दरअसल, एटीएम में छेड़छाड़ कर रुपये निकालने वाली अंतरराज्यीय गैंग अब इंदौर पुलिस और क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में है। पुलिस ने तीनो आरोपियों से 3 पिस्टल, 6 जिंदा कारतूस, एक चार पहिया वाहन, 6 एटीएम कार्ड और 49800 नगद बरामद किये है। पूछताछ में आरोपियों ने इंदौर में 3 दर्जन से अधिक वारदात करना कबूला है। इंदौर क्राइम ब्रांच और परदेशीपुरा थाना पुलिस ने सयुंक्त कार्रवाई करते हुए एटीएम से छेड़छाड़ कर रुपये निकलने वाली गैंग पर्दाफाश करते हुए अंतरराज्यीय गैंग के तीन अरोपियों को गिरफ्तार कर ये भी पता लगा लिया है कि वो किस तरह से एक विशेष औजार के जरिये आसानी से रुपये निकाल लेते थे।

यूपी के बदमाश गिरफ्तार
बतादें कि इंदौर में पिछले कुछ माह से लगातार फर्जी तरीके से एटीएम से रुपए विड्रॉल करने की जानकारी पुलिस को मिल रही थी और इसके बाद पुलिस लगातार आरोपियों की तलाश कर रही थी। वहीं आरोपियों के सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस को मिले थे। एसएसपी क्राइम ब्रांच गुरुप्रसाद पाराशर ने बताया कि इस पूरी कार्रवाई में पुलिस को सफलता उस वक्त हाथ लगी जब मध्य रात्रि में क्राइम ब्रांच की टीम इलाका भ्रमण कर रही थी। उसी दौरान मुखबिर द्वारा सूचना दी गई कि एक सफेद रंग की कार में कुछ लोग अपराध करने की नियत से घूम रहे हैं। जिनके पास हथियार की भी हैं सूचना की तस्दीक करने के बाद बताये गए कार नंबर के आधार पर घेराबंदी कर उन्हें पकड़ा गया।

पूछताछ करने पर आरोपियों ने अपना नाम बजरंग उर्फ सावन मेहताब हसन व मनीष कुमार निवासी प्रतापगढ़ यूपी बताया। वहीं आरोपियों ने पूछताछ में यह भी कबूल किया कि इनके द्वारा इंदौर शहर में 3 दर्जन से अधिक वारदातें एटीएम से रुपए निकालने की की गई है। आरोपियों की तलाशी में 3 अवैध पिस्टल, छह जिंदा कारतूस वह एक चार पहिया वाहन बरामद किया है। वहीं इन आरोपियों ने एटीएम से रुपए निकालने के लिए एक विशेष प्रकार का चिमटा नुमा हथियार बना रखा था। जिसकी सहायता से आरोपी एटीएम से फर्जी तरीके से रुपए विड्रॉल करते थे। सभी आरोपी उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ के रहने वाले हैं।

बतादें कि पिछले 3 माह में एटीएम से रुपए विड्रॉल करने की लगातार शिकायत आ रही थी। उसके बाद से ही पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही थी। फिलहाल पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है।

यह भी पढ़ें…इंदौर में पुलिस के हत्थे चढ़े 3 चेन स्नैचर्स, रिटायर्ड जज ने तारीफ कर कही यह बात