Indore news: दिसंबर में 90 से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव, हर मरीज की जिनोम सिक्वेसनसिंग

इंदौर में कोरोना के बढ़ते मरीजों की संख्या ने बढ़ाई स्वास्थ्य विभाग की चिंता। दिसंबर में आंकड़ा 90 पार।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। Indore भी कोरोना महामारी ने पिछले 2 वर्ष से ज्यादा समय से पूरे विश्व की तरह जूझ रहा है। विश्व में व्याप्त किस महामारी के आतंक से मध्य प्रदेश का इंदौर शहर भी अछूता नहीं है। ऊपर से कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन का भी ख़तरा सर पर मंडरा रहा है। दिसंबर माह में इंदौर में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों ने स्वास्थ्य विभाग को एक बार फिर चिंतित कर दिया है। इंदौर में तीसरी लहर की आशंका बनी हुई है।जिसके चलते चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो चुके है।

यहां भी देखें- Indore News: महिला की हत्या, करीबियों पर शक की सुई

दिसम्बर में अब तक कुल 90 से अधिक संक्रमित मरीज इंदौर में मिल चुके है। इस बारे में बात करते हुए
इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी. एस. सैत्या ने कहा कि राज्य सरकार के आदेश के मुताबिक इंदौर में जितने भी पॉजिटिव मरीज सामने आ रहे है उनके सैम्पल को जिनोम सिक्वेसनसिंग के लिए दिल्ली भेजा जा रहा है। दरअसल, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को इस बात की चिंता सता रही है कि कही कोरोना के नए वेरियंट ओमिक्रोन ने तो इंदौर में प्रवेश नही कर लिया है। लिहाजा, हर कदम फूंक कर रखा जा रहा है।

यहां भी देखें- Indore : एसोसिएशन की बड़ी बैठक आज, कहा- नहीं हुआ इनका तबादला तो करेंगे काम बंद

एहतियातन चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग लोगो मास्क पहने, भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से बचने और कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन करने का निवेदन कर रहा है। कोविशील्ड और कोवैक्सिन के दोनों डोज लगवाने की अपील भी विभाग लोगो से कर रहा है।

यहां भी देखें- Indore News : दिसंबर में औसतन 5 मरीज प्रतिदिन, कोरोना को लेकर बढ़ाई सतर्कता

महावैक्सिनेशन अभियान 186 सेंटर्स पर जारी है। साथ ही निगम के वाहनों द्वारा गरीब व निचली बस्तियों में जाकर लोगों को विकसित लगाई जा रही है। स्वास्थ्य विभाग हर संभव प्रयास कर रहा है कि आने वाले खतरे को टाला जा सके और वह नागरिकों से अपील कर रहा है कि इस मुहिम में वे प्रशासन का साथ दें।