Indore News : टीबी के मरीजों को मुफ्त में राशन देगा डीएवीवी

हमारा लक्ष्य 2025 तक टीबी मुक्त अभियान है। योजना के चलते स्वयं सेवी संस्थाएं ओर अन्य लोग भी इससे जब जुड़ेंगे तो टीबी मुक्त अभियान को पूरा ज़रूर करेंगे।

Amit Sengar
Published on -
davv

Indore News : देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर द्वारा राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम जिला इंदौर के टीवी अनमोल तथा निक्षय मित्र योजना के अंतर्गत सो टीबी मरीजों को निशुल्क पोषण आहार वितरण किया गया। कार्यक्रम में इंदौर स्वास्थ्य विभाग के सीएमएचओ डॉक्टर भूरे सिंह सत्य जिला क्षय अधिकारी डॉक्टर शैलेन्द्र जैन मुख्य रूप से मौजूद रहे।

6 महीने तक पोषण आहार देगा डीएवीवी

निक्षय पोषण योजना 2023-24 के तहत एक कार्यक्रम किया गया। कार्यक्रम के दौरान सो बच्चों को निशुल्क पोषण आहार वितरण किया गया। आपको बता दें कि 9 सितम्बर 2022 को भारत के राष्ट्रपति महामहिम श्रीमती द्रौपदी मुर्मू द्वारा टीवी मुक्त भारत अभियान का शुभारंभ किया गया। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा टीवी रोगियों के उपचार के परिणाम में सुधार हेतु समाज के समस्त व्यक्तियों से टीवी रोगियों के लिए शासन के अतिरिक्त सहायता मरीजों को दिलाने का उद्देश्य से निक्षय मित्र योजना आरंभ की गई। डीएवीवी के हॉल में हुए कार्यक्रम को लेकर डीएवीवी की कुल गुरु प्रोफेसर रेनू जैन ने सरकार की इस योजना का शुरुआत होना बताया आगे कहा आज का यह कार्यक्रम टीबी को खत्म करने के लिए एक नया अध्याय साबित होगा। टीबी जिस तरह देश की स्वास्थ्य पर असर डालता है उसे देखते हुए इसके खिलाफ लड़ाई जरूरी है।

भारत को 2025 तक TB मुक्त करने का अभियान

कार्यक्रम को लेकर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी भूर सिंह सत्या ने कहा कि सरकार की इस योजना के तहत देवी अहिल्या विश्वविद्यालय ने यह कदम उठाया है जो की एक बेहतर कदम है और आज भी इस कार्यक्रम में निशुल्क पोषण वितरण का कार्यक्रम किया गया है। डॉक्टर सत्या ने यह भी कहा कि हमारा लक्ष्य 2025 तक टीबी मुक्त अभियान है। योजना के चलते स्वयं सेवी संस्थाएं ओर अन्य लोग भी इससे जब जुड़ेंगे तो टीबी मुक्त अभियान को पूरा ज़रूर करेंगे। डीएवीवी द्वारा 6 महीने तक पोषण आहार दिया जाएगा।

इंदौर से शकील अंसारी की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News