आईआरसीटीसी श्रद्धालुओं के लिए लेकर आया बेहतरीन पैकेज, यहां देखिये पूरी जानकारी

irctc

IRCTC : आईआरसीटीसी समय-समय पर कई टूर पैकेज लेकर आता रहता है। हर साल बड़ी मात्रा में लोग इन लोकप्रिय स्थानों पर आईआरसीटीसी के माध्यम से घूमते हैं। अगर आप काशी और गंगासागर घूमने की योजना बना रहे हैं। ऐसे में आईआरसीटीसी आपके लिए एक शानदार टूर पैकेज लेकर आया है। इस पैकेज के अंतर्गत आपको काशी और गंगासागर के लोकप्रिय स्थानों पर घूमने का अवसर मिल रहा है। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंण्ड टूरिज्म कार्पोरेशन द्वारा यात्रियों को इस पर्यटन ट्रेन में सेकंड एवं थर्ड एसी की सुविधा दी जाएगी। इसके आलावा रेलवे स्टेशन से बाहर शहर में अथवा दूसरे शहर में सड़क मार्ग से जाने पर चार पहिया वाहन की सुविधा उपलब्घ करवाई जाएगी।

बता दें कि रेल विभाग के उपक्रम इंडियन रेलवे कैटरिंग एंण्ड टूरिज्म कार्पोरेशन द्वारा नवंबर में दक्षिण भारत की यात्रा करवाई जाएगी तथा उसके करीब एक माह बाद दिसंबर में जगन्नाथ पुरी, गंगा सागर और काशी विश्वनाथ यात्रा का पैकेज भी तैयार किया गया है। कॉर्पोरेशन द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार आगामी 16 दिसंबर को इंदौर से देवास, उज्जैन, सीहोर, भोपाल, इटारसी, जबलपुर तथा कटनी से अनूपपुर होते हुए यह ट्रेन पुरी तथा वहां से कोलकाता फिर यहां से वाराणसी और अयोध्या से होते हुए वापिस उसी मार्ग से इंदौर पहुंचेगी। यात्रा 16 दिसंबर को इंदौर से शुरू होकर 24 दिसंबर वापिस इंदौर पहुंचेगी। यात्रा के दौरान इंडियन रेलवे कैटरिंग एंण्ड टूरिज्म कार्पोरेशन द्वारा सभी यात्रियों को चाय, नाश्ता तथा भोजन और रेलवे स्टेशन से शहरों में जाने के लिए या किसी दूसरे शहर सड़क मार्ग से जाने के लिए वाहन भी उपलबध करवाए जाएंगे। यात्रा के दौरान रात्रि विश्राम के लिए गंगासागर, कोलकाता, वाराणसी और अयोध्या में एसी एवं नॉन एसी कमरे भी उपलब्ध करवाए जाएंगे।

15000 से 30000 तक किराया

8 से 9 दिन के इस टूर पैकेज के लिए इंडियन रेलवे कैटरिंग एंण्ड टूरिज्म कार्पोरेशन द्वारा प्रत्येक यात्री से न्यूनतम किराया 14 हजार 800 रुपए है जिसमें इकानामी स्लीपर की सुविधा दी जाएगी। जबकि 23 हजार 400 रुपए में तृतिय श्रेणी एसी की सुविधा मिलेगी और 30 हजार 600 रुपए प्रति व्यक्ति किराया पर द्वितिय श्रेणी एसी की सुविधा दी जाएगी।

इंदौर से मंगल राजपूत की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News