चोरी की शंका के चलते युवक को हाथ-पैर बांध पीटा, मौत, मचा हड़कंप, महिला TI सस्पेंड

man-allegedly-died-in-police-custody-at-gandhi-nagar-police-station-indore

इंदौर।

मध्यप्रदेश के इंदौर में एडीजी ने महिला टीआई को तत्काल सस्पेंड कर ज्यूडिशियल जांच बैठा दी है। बताया जा रहा है कि मंगलवार को चोरी की शंका के चलते एक युवक को हिरासत में लिया गया था और फिर उसकी जमकर पिटाई की गई। मार के चलते युवक की तबीयत अचानक इतनी बिगड़ गई कि उसने दम ही तोड़ दिया। जैसे ही यह खबर बड़े अधिकारियों तक पहुंची उन्होंने महिला टीआई को तत्काल सस्पेंड कर दिया और ज्यूडिशियल जांच बैठा दी है।घटना के बाद से ही शहर में सनसनी फैली हुई है।वही घटना के बाद अधिकारियों में भी हड़कंप मचा हुआ है।इस मामले में मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों पर भी गाज गिरने की संभावना जताई जा रही है, क्योंकि परिजनों ने उन पर हत्या का आरोप लगाया है।

मिली जानकारी के अनुसार, मंगलवार दोपहर 2 बजे पुलिसकर्मी राजेश, शिव, सुनील रघुवंशी, इंदरसिंह राठौर व महिला सिपाही मान ने पेशे से मित्री संजू को चोरी की शंका के चलते गिरफ्तार किया था।इसके बाद उसे थाने में हाथ पैर बांध जमकर पीटा और उससे पूछा कि तूने चोरी की।इस दौरान बेटे के पीछे पीछे थाने पहुंचे मां मां नंदीबाई (60) को भी चांटे मारे और बंद कर दिया। लगातार मार से संजू की देर शाम हालात बिगड़ गई तो पुलिसकर्मी उसे अस्पताल लेकर पहुंचे लेकिन इसे पहले ही उसने दम तोड़ दिया।

बताया जा रहा है कि इंदरसिंह व तीन पुलिसकर्मी 22 वर्षीय संजू पिता हिंदूसिंह निवासी इंजलाय नैनोद मल्टी के पास गांधीनगर को मृत अवस्था में एमवाय अस्पताल लेकर पहुंचे। कुछ देर बाद अफसर पहुंचे और कहा कि संजू की थाने में पूछताछ के दौरान तबीयत बिगड़ गई। कुछ देर बाद संजू के परिजन थाने पहुंच गए और टीआई नीता देअरवाल व 4 पुलिसकर्मियों पर हत्या का आरोप लगाया।इसके बाद  एडीजी ने महिला टीआई को तत्काल सस्पेंड कर ज्यूडिशियल जांच बैठा दी है। 

मामले टीआई ने वरिष्ठ अधिकारियों को आरोपी संजू का बीपी बढ़ जाने की बात कही और अस्पताल ले जाना बताया। लेकिन अस्पताल सूत्रों के मुताबिक जब आरोपी को वहां लाया गया तो वह मर चुका था। बताते हैं कि आरोपी संजू को गांधी नगर पुलिस ने पूर्व में अरिहंत नगर में हुई एक चोरी के प्रकरण में अप्रैल माह में भी पकड़ा था। आज वाहन चोरी के मामले में उसे लेकर आए थे। इस मामले में टीआई देअरवाल ने कोई भी जवाब देने से इनकार कर दिया। वहीं, एसपी सूरज वर्मा भी जवाब देने से बचते रहे।