वसीम रिजवी के खिलाफ मुस्लिम संगठन एकजुट, IG से की प्रकरण दर्ज करने की मांग

इस्लाम धर्म को मानने वाला कुरान शरीफ को अपनी जान से ज्यादा प्यार करता है। ऐसे में धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाकर सामाजिक उन्माद फैलाने वाले वसीम रिजवी (Wasim Rizvi) पर सक्षम धाराओं के तहत केस दर्ज प्रकरण दर्ज किया जाए

इंदौर, आकाश धौलपुरे। इंदौर में आज सोमवार को मुस्लिम समुदाय से जुड़े लोगों का प्रतिनिधिमंडल आईजी हरिनारायणचारि मिश्र (IG Harinarayanachari Mishra) के पास पहुंचे और प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने मध्यप्रदेश पुलिस के आला अधिकारियों के नाम शिकायती पत्र और ज्ञापन सौंपा और शिया वफ्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष सैय्यद वसीम रिजवी (Wasim Rizvi) के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने की मांग की।

दरअसल, इन दिनों शिया वफ्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष सैय्यद वसीम रिजवी (Wasim Rizvi) के खिलाफ देशभर सहित समूचे विश्व में  मुस्लिम संगठन लामबंद हो गए है। इंदौर में भी वसीम रिजवी (Wasim Rizvi) का खासा विरोध किया जा रहा है।  यहां मुस्लिम संगठनों द्वारा लगातार प्रदर्शन और ज्ञापन के माध्यम से रिजवी के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करने की मांग की जा रही है। इसी कड़ी में इंदौर में मुस्लिम समाज के प्रतिनिधिमंडल ने पाक कुरान और मुस्लिम धर्म के लिए गलत बयानबाजी को लेकर विरोध जताया है और इंदौर आईजी हरिनारायणचारि मिश्र (IG Harinarayanachari Mishra)को ज्ञापन सौंपा।

ये भी पढ़ें – MP Board: 10वीं और 12वीं के प्रैक्टिकल परीक्षा और क्वेश्चन बैंक से जुडी बड़ी खबर, देखे यहां

बता दे कि मूल रूप से लखनऊ उत्तरप्रदेश के रहने वाले वसीम रिजवी (Wasim Rizvi) द्वारा करोड़ों मुसलमानों की धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने के लिए पवित्र धर्मग्रंथ कुरान शरीफ को अपमानित किया है जिसके बाद से ही रिजवी के खिलाफ मुस्लिम समुदाय लामबंद है और हर कोई चाहता है कि वसीम रिजवी को कड़ी कानूनी सजा मिले।

रजा एकेडमी इंदौर के जैद पठान ने शिकायती पत्र में लिखा है कि कुरान शरीफ पवित्र धर्मग्रन्थ है जिसे पूरी दुनिया मे अरबों मुसलमानों द्वारा पढ़ा जाता है और इस्लाम धर्म को मानने वाला कुरान शरीफ को अपनी जान से ज्यादा प्यार करता है। ऐसे में धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाकर सामाजिक उन्माद फैलाने वाले वसीम रिजवी (Wasim Rizvi) पर सक्षम धाराओं के तहत केस दर्ज प्रकरण दर्ज किया जाए। ज्ञापन लेने के बाद आईजी हरिनारायणचारि मिश्र (IG Harinarayanachari Mishra) ने आक्रोशित प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिलाया कि मामले में जांच कर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।