इंदौर में पुलिस और अर्धसैनिक बल ने निकाला फ्लैग मार्च, 22 संवेदनशील रूट की निगरानी

इंदौर/आकाश धोलपुरे

कोरोना की कठिन डगर पर चल रहे इंदौर में अब पुलिस फोर्स अर्धसैनिक बल के साथ मिलकर शहर के कई स्थानों पर फ्लैग मार्च कर रही है। दरअसल, लॉक डाउन के पहले चरण में लोगों ने कर्फ्यू का पालन तो किया लेकिन कई लोगों का गैरजिम्मेदाराना रवैया भी समय-समय पर सामने आता रहा, जिसके बाद अब फ्लैग मार्च निकालकर ऐसे लोगों को समझाइश दी जा रही है।

सोमवार को इंदौर में फ्लैग मार्च के जरिये लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों पर सख्ती दिखाने की शुरुआत हो चुकी है। इंदौर पुलिस ने सोमवार शाम लॉक डाउन का उल्लंघन करने वाले इलाकों में फ्लैग मार्च निकालकर लोगों को लॉक डाउन का पालन करने की हिदायत दी। फ्लैग मार्च पूरे शहर में निकाला गया, जिसमें आईजी, डीआईजी, एसपी के साथ, वज्र और अन्य पुलिस कम्पनियां मौजूद थी । इस दौरान अधिकारियों ने माइक से लोगों को समझाइश देते हुए घर में ही रहने की सलाह दी। आर.आई. जय सिंह तोमर ने बताया कि फ्लैग मार्च शहर के 22 रूट पर निकाला गया और संवेदनशील इलाकों में भी पुलिस समझाईश देती नजर आई।

फ्लैग मार्च में कोरोना जागरूकता रथ भी निकाला गया जिसके जरिये लोगों को जागरूक किया गया। इसके पहले इंदौर पुलिस के एक अधिकारी ने आज ‘ज़िंदगी की यही रीत है, हार के बाद ही जीत है’ गीत गाकर अपने स्टाफ का हौंसला भी बढ़ाया। इस अधिकारी को गाता हुआ देख जवानों ने भी ताली बजाकर उनका साथ दिया।