मई माह हुए भीषण अग्निकांड की एकमात्र गवाह की जान आफत में, पुलिस जांच में जुटी

वहीं इस मामले में अब आरोप प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो चुका है।

इंदौर, आकाश धौलपुरे। इंदौर (indore) के विजय नगर थाना क्षेत्र में स्थित स्वर्ण बाग कालोनी में 6 मई की रात को शार्ट सर्किट की वजह से हुए भीषण अग्निकांड में 7 लोगो की मौत हुई थी। जिसके बाद से पूरे अग्निकांड की जांच जारी है, और मामला कोर्ट की दहलीज तक जा पहुंचा है। अब स्वर्णबाग अग्निकांड से जुड़ी मुख्य गवाह ने जहर खा कर की आत्महत्या की कोशिश है। वहीं इस मामले में अब आरोप प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो चुका है।

यह भी पढ़े…MP Transfer : चिकित्सा शिक्षा विभाग में तबादला, जीआर मेडिकल कॉलेज ग्वालियर को मिला नया डीन

बता दें कि स्वर्ण बाग कॉलोनी में भीषण अग्निकांड में 7 लोगों की मौत हो गई थी। इस अग्निकांड की एकमात्र सरकारी गवाह सना ने जहर खाया है उसे खिलाया गया इस पर अभी सवाल बने हुए है। बताया जा रहा है युवती उसी घर में किराए से रह रही है जिस घर में आग लगी थी। वही ये बात भी सामने आ रही है कि युवती को यह कहकर प्रताड़ित किया जा रहा है कि उसकी वजह से ही घटना हुई है।

यह भी पढ़े…नशे में धुत्त पिता अपनी ही बेटी के साथ करता था दुष्कर्म, पुलिस ने दुष्कर्मी पिता को किया गिरफ्तार

बताया जा रहा है कि स्वर्ण बाग कॉलोनी में मई माह में भीषण अग्निकांड हुआ था और जिस मकान में आग लगी थी वह एहसान पटेल का है। वही तत्कालिक जांच में सामने आया था अग्निकांड को संजय उर्फ शुभम दीक्षित नामक युवक ने अंजाम दिया था। संजय युवती से प्रेम करता था और दोनों के बीच विवाद चल रहा था, इसी झगड़े का बदला लेने के लिए सना की गाड़ी को वह जलाना चाहता था लेकिन आग पूरी इमारत में लग गई थी। हालांकि, संजय अभी जेल में है।वही इस घटना की एकमात्र सरकारी गवाह युवती ही है। आरोप है कि पटेल परिवार युवती सना को उस कांड का जिम्मेदार मान कर लगातार टॉर्चर कर रहा है।

मई माह हुए भीषण अग्निकांड की एकमात्र गवाह की जान आफत में, पुलिस जांच में जुटी

यह भी पढ़े…मोबाइल प्रतिबंध आदेश में निर्वाचन आयोग ने किया संशोधन, पत्रकारों के लिए दिए ये निर्देश 

जानकारी के मुताबिक अग्निकांड की चार्ज शीट ही अभी कोर्ट में पेश हुई है और अग्निकांड के मुख्य आरोपी को अभी सजा होना बाकी है। वही बताया जा रहा है कि अग्निकांड की एकमात्र सरकारी गवाह ने जहर खाकर जान देने का प्रयास किया है। वही जानकारी सामने आई है कि अब युवती का आरोप है कि उसे घर का मालिक यह कहकर प्रताड़ित कर रहा है कि उसकी वजह से घटना हुई हैं। युवती में मकान मालिक एहसान पटेल पर कई गंभीर आरोपी लगाएं है। युवती की हालत अब तक नाजुक बनी हुई है। फिलहाल, इंदौर के एम.वाय. अस्पताल में उसका इलाज जारी है। डीसीपी संपत उपाध्याय का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। पीड़िता के बयान लिए जा रहा है बयान लेने के बाद ही साफ हो पाएगा कि युवती ने जहर क्यों खाया है।