हनुमान को दलित बताकर घिरे योगी, शंकराचार्य बोले-क्या त्रेता में भी थी भाजपा

cm-yogi-surrounded-on-a-statement-about-hanuman-shankrachary-attack-

जबलपुर| उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ द्वारा भगवान हनुमान को दलित बताने वाले बयान से विवाद खड़ा हो गया है| अब तक देश की राजनीती में श्री राम को लेकर सियासी बयानबाजी की जाती थी| अब भगवान् हनुमान पर बयानबाजी से नई बहस छिड़ गई है| सभी अपने अपने दावे कर रहे हैं| इस बीच ज्योतिष्ठापिश्वर और द्वारिकाशरदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद का बयान सामने आया है| उन्होंने बीजेपी पर नाराजगी जाहिर करते हुए योगी के इस बयान की निंदा की| उन्होंने कहा क्या भाजपा त्रेता युग में भी थी, जो उन्हें यह जानकारी है| वहीं उन्होंने कहा कि दलित को दलित कहने पर सजा का प्रावधान है, तो इसी प्रकार हनुमानजी को दलित कहने वालों को भी सजा होनी चाहिए| स्वामी स्वरूपानंद जबलपुर में मीडिया से चर्चा कर रहे थे| 

स्वामी स्वरूपानंद ने कहा राजनेता देश को गलत दिशा में ले जा रहे हैं| समरसता के नाम पर समाज को बांटा जा रहा है| भाजपा ने राम मंदिर की बाते की बीजेपी के एजेंडे में मंदिर था, आज मन्दिर के नाम पर अयोध्या में सरयू नदी के किनारे भगवान राम की मूर्ति बनाने की बात कर रही है| मूर्ति का निर्माण गलत| उन्होंने कहा लोग चाहते हैं कि रामजन्म भूमि के स्थान पर राम मंदिर का निर्माण हो जहां मूर्ति भी बनाई जाए| अब जब वाकई में मन्दिर निर्माण का समय आया तब बीजेपी देश को धोखा दे रही है| 

उन्होंने कहा सरकार के द्वारा राम जन्मभूमि के अधिग्रहण करने की बात का कोई आधार नहीं है| पीवी नरसिम्हा राव के कार्यकाल में ही 67 एकड़ जमीन अधिग्रहण कर ली गई थी| रामजन्म भूमि के आसपास कभी बाबर आया ही नहीं, यह भाजपा का दुष्प्रचार था | अगर सरकार मन्दिर निर्माण चाहती है तो संसद में प्रस्ताव पारित कर सुप्रीम कोर्ट से निवेदन कर सकती है| भाजपा ही  मन्दिर निर्माण में सबसे बड़ी बाधक है| उन्होंने RSS प्रमुख मोहन भागवत पर भी तंज कैसा| उन्होंने पीएम मोदी पर कहा नरेंद्र मोदी ने पीएम बनने से पहले कहा था कि भारत गो मांस का बड़ा निर्यातक है जिससे वे दुखी हैं आज भी देश से गोमांस का निर्यात हो रहा है| गंगा अभी भी प्रदूषित है। बीजेपी तीन तलाक कानून तो बना रही है लेकिन कॉमन सिविल कोड का निर्माण नहीं कर रही| नोटबन्दी से देश का हित होगा यह शिक्षा बीजेपी को कहां से मिली,  नोटबन्दी से देश हलाकान हो गया है|