एमपी में कोरोना की दहशत, शवयात्रा से भी दूरी बना रहे लोग

जबलपुर/संदीप कुमार। कोरोना वायरस विश्व के लिए गंभीर समस्या बन चुकी है इसी के चलते कोरोना से सुरक्षित रहने के लिए पीएम मोदी ने भी लोगो से अपील की है। इसके बचाव के लिए 22 मार्च 2020 को स्वंय पर नियंत्रण (“जनता कर्फ्यू” ) रखने को कहा गया है। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लोग भीड़-भाड़ इलाके में जाने से बच रहे हैं इसी के चलते जबलपुर में एक ऐसी घटना देखने को मिली जहां एक व्यक्ति की मृत्यु हो गई है, लेकिन कोरोना की कहर के कारण उस व्यक्ति के अंतिम यात्रा में सिर्फ 4 से 5 व्यक्ति ही शामिल हुए थे।  ग्वारीघाट में एक बुजुर्ग की मौत हो गई थी और जब उनकी अंतिम यात्रा मुक्तिधाम के लिए ले जाने लगे तो उसमें गिनती के महज चार से पाँच लोग शामिल थे और वो भी मास्क पहने हुए।

बता दें कि मध्यप्रदेश के जबलपुर इलाके में कोरोना वायरस के 4 पॉजिटिव मरीज पाए गए थे। जिसके चलते जबलपुर में लॉक डाउन की स्थिति बन गई है। जबलपुर की जनता कोरोना वायरस से अत्यधिक सतर्क हो चुकी है और उन चारों मरीज को भी विक्टोरिया अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। जहां पर उनका इलाज किया जा रहा है हलाकि डॉक्टरों का कहना है कि अब मरीज को बुखार नहीं आ रहा है उनकी स्थिति में सुधार हो रहा है।

जबलपुर के कलेक्टर भरत यादव ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि करोना वायरस के चलते जिले की सभी सेवाओं को बंद कर दिया जाएगा, जिसमें परिवहन, मॉल,छोटी दुकानें, मंदिर आदि शामिल है।