एक बार फिर नदी से निकलकर मटामर गांव में घुसा मगरमच्छ, ग्रामीणों ने स्वयं किया रेस्क्यू

मटामर गांव में आज एक बार फिर मगरमच्छ नदी से निकलकर गांव के भीतर चला गया, जिसका ग्रामीणों ने स्वयं रेस्क्यू कर वापस उसे नदी में छोड़ा।

जबलपुर, संदीप कुमार | मध्य प्रदेश के जबलपुर के मटामर गांव में मगरमच्छ घुस जाने से इलाके में हड़कंप मच गया। बता दे आज एक बार फिर मगरमच्छ नदी से निकलकर गांव के भीतर चला गया, जिसका ग्रामीणों ने स्वयं रेस्क्यू कर वापस उसे नदी में छोड़ा।

यह भी पढ़ें – नहीं रहे 46 साल के टीवी एक्टर सिद्धांत सूर्यवंशी, इस सीरियल से हुए थे फेमस 

दरअसल, नदी से निकालकर मगरमच्छ गांव के गौशाला में घुस गया, जिसके कारण गाय यहां-वहां भागने लगी। गाय की आवाज सुनकर ग्रामीण गौं शाला पहुंचे जहां देखा कि मगरमच्छ बैठा हुआ है। जब यह बात ग्रामीणों को पता चली तो वह लोग भी गौ शाला पहुंच गए, जिसके बाद मटामर गांव में ही रहने वाले धर्मेंद्र रजक ने अपने साथियों के साथ मगरमच्छ का रेस्क्यू किया और फिर उसे पकड़कर परियट नदी में छोड़ दिया।

इस मामले में ग्रामीणों का कहना है कि पर्यटन अली सेलगा क्षेत्र में हमेशा से ही मगरमच्छों का जमावड़ा रहता है। यहां आए दिन मगरमच्छ गांव के भीतर घुस जाते हैं और फिर पालतू जानवरों को अपना शिकार बनाते है। घाना, खमरिया, मटामर, सोनपुर, वर्धाघाट गांव में हमेशा से ही मगरमच्छ की दहशत बनी रहती है। इसके बावजूद वन विभाग इस और कभी ध्यान नहीं देता।

यह भी पढ़ें – CG Weather: 24 घंटे बाद बदलेगा मौसम, दिखेगा पश्चिमी विक्षोभ का असर, बढ़ेगी ठंड, गिरेगा तापमान, जानें पूर्वानुमान