दद्दाजी की अस्थियां नर्मदा में विसर्जित, आशुतोष राणा-राजपाल यादव समेत कई हस्तियां रहीं उपस्थित

जबलपुर | संदीप कुमार| करोड़ों पार्थिव शिवलिंग का निर्माण करने वाले गृहस्थ संत पंडित देव प्रभाकर शास्त्री जी का 18 मई को निधन हो गया था। वह किडनी और लीवर की बीमारी से ग्रसित थे। आज पंडित देव प्रभाकर शास्त्री जी की अस्थियों का विसर्जन मां नर्मदा के लमेहटा घाट में किया गया। दद्दा जी के अस्थि विसर्जन कार्यक्रम में सैकड़ों लोग शामिल हुए वही उनके परम भक्त और फिल्म अभिनेता आशुतोष राणा और राजपाल यादव भी अस्ति विसर्जन करने के शामिल होने जबलपुर पहुंचे।

फिल्म अभिनेता राजपाल यादव ने बताया कि फिल्में तो हमने बहुत की और निर्माता-निर्देशक भी हमें बहुत मिले पर जो माता पिता और गुरु है वह सिर्फ एक ही हैं। हमारे आराध्य दद्दा जी का पार्थिव शरीर हमें आज भले ही छोड़ कर चला गया हो पर उनका आशीर्वाद हमेशा सभी शिष्यों पर बना रहेगा। फिल्म अभिनेता राजपाल यादव ने बताया कि दद्दा जी के सानिध्य में वो करीब 21 साल से है। जीवन जीने की एक ही फिल्म होती है और उसके जो निर्देशक थे वह पूज्य दद्दा जी हैं और वही हमेशा रहेंगे।

दद्दा जी के अस्थि विसर्जन कार्यक्रम में शामिल होने पहुँचे राजपाल यादव ने कोरोना वायरस से बचने के लिए सोशल डिस्टेन्स बनाकर रखने की बात भी कही पर दद्दा जी के अस्थि विसर्जन कार्यक्रम में ये कही भी नही देखा गया। दद्दा जी के अंतिम दर्शन पाने के लिए लोगो ने सोशल डिस्टेन्स का पालन भी नही किया। दद्दा जी के अस्थि विसर्जन कार्यक्रम में मध्यप्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री संजय पाठक और लखन घनघोरिया सहित प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here