केन्द्रीय सुरक्षा संस्थान ओएफके फैक्ट्री के कर्मचारियों ने कर्नल और जीएम बंगले का किया घेराव

-employees-of-Central-Security-Institute-enclosed-GM-bungalow-

जबलपुर। 

संयुक्त संघर्ष समिति के तत्वधान में केंद्रीय सुरक्षा संस्थान ऑर्डनेंस फैक्ट्री खमरिया के सैकड़ों कर्मचारियों ने आज कमांडेंट और जनरल मैनेजर के बंगले का घेराव किया और जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों का आरोप है कि एसक्यूएई के कमांडेंट निश्चय राव विदेशी कंपनियों के सामानों को तो पास कर रहे है पर जो ओएफके फैक्टरी में तैयार माल है उसे चेक नही कर रहे है।कर्मचारी नेता अरुण दूबे की माने तो कमांडेंट जानबूझकर खमरिया फैक्ट्री में बने सामानों को प्रूफ नहीं कर रहे हैं जिस वजह से फैक्ट्री में तैयार करोड़ों रुपए के गोला बारूद पास नहीं हो रहे हैं।

दरअसल, फैक्ट्री में बनने वाले तमाम गोला बारूद को सेना के पास भेजने से पहले एसक्यूएई विभाग प्रूफ करने के बाद पास करता है। पर बीते कुछ दिनों से कमांडेंट निश्चय राव ने फैक्ट्री में बने उत्पादकों को प्रूफ करने से मना कर दिया है जिस वजह से तैयार माल फैक्ट्री में रखा हुआ है।आलम यह है कि कर्मचारियों के पास काम तो है पर तैयार माल का प्रूफ ना होने के चलते वह नया काम नहीं कर पा रहे हैं। 

बताया जा रहा है कि फैक्ट्री के महाप्रबंधक और एसक्यूएई के प्रमुख अधिकारियों के बीच आपसी तालमेल नहीं बन रहा है जिस वजह से उत्पादन प्रभावित हो रहा है। लेबर यूनियन,सुरक्षा कर्मचारी यूनियन और कामगार यूनियन के कर्मचारियों ने आज विरोध स्वरूप महाप्रबंधक और कमांडेंट के बगले का घेराव करते हुए चेतावनी दी है कि अगर जल्द ही उनके तैयार मालो का प्रूफ कर पास नहीं किया जाता है तो सोमवार से फेक्ट्री के तमाम कर्मचारी एकमत होकर उग्र आंदोलन करेंगे।अगर जरूरत पड़ी तो फैक्टरी में काम बंद कर हड़ताल भी होगी ।