जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर (Jabalpur) में नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन (Remdesivir Injection ) कांड में अभी तक कई आरोपियों (accused) को पुलिस ने पकड़ा है। जिसमें सिटी अस्पताल संचालक सरबजीत सिंह मोखा उसकी पत्नी-बेटे सहित 6 लोगो को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। वहीं अब गुजरात से 4 अन्य आरोपियों को जबलपुर लाया गया है। जो अभी पुलिस रिमांड में है। अब आशंका जताई जा रही है कि इस मामले में कई और बड़े खुलासे हो सकते है।

यह भी पढ़ें…शिवपुरी पुलिस की कार्रवाई, लाखों के स्मैक के साथ पांच आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने सपन जैन, कौशल वोरा, पुनीत शाह और सुनील मिश्रा को आज जिला न्यायालय में पेश किया। गुजरात से लाये गए चारो आरोपियों का मेडिकल करवाया गया। जहाँ पुलिस को पूछताछ के लिए चार दिन की रिमांड मिली है। पुलिस को उम्मीद है कि इन चारों से पूछताछ के दौरान केस से जुड़ी अहम जानकारी मिल सकती है।पकड़े गए आरोपियों के बाद अब कहा जा सकता है कि पुलिस के द्वारा पूछताछ में नकली रेमडेसिवीर प्रकरण को लेकर कई अहम खुलासे अब हो सकते हैं।

नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन प्रकरण में मध्यप्रदेश और गुजरात पुलिस ने अभी तक 10 लोगों को आरोपी बनाया है। जिसमें सिटी हॉस्पिटल संचालक सरबजीत सिंह मोखा, उसकी पत्नी सिमरत कौर मोखा, बेटा हरकरण सिंह मोखा, सिटी अस्पताल मैनेजर सोनिया खत्री, फार्मासिस्ट देवेश चौरसिया, एमआर राकेश शर्मा शामिल है। जो कि वर्तमान में जेल में है। इधर अब चार आरोपी सपन जैन, सुनील मिश्रा, कौशल वोरा व पुनीत शाह को गुजरात से जबलपुर लाया गया है। पुलिस रिमांड मिलने के बाद अब मोखा से इन आरोपियो का आमना-सामना करवाया जाएगा।

यह भी पढ़ें… छतरपुर- वैक्सीन नहीं तो चाय नहीं, ये है पूरा मामला