जबलपुर: पुलिस की ये कैसी समझदारी? कोरोना पाॅजिटिव आरोपी को शहर में पैदल चलवाया

लिस एक कोरोना पॉजिटिव आरोपी (corona positive accused) को दूसरे निगेटिव आरोपी के साथ शहर भर में पैदल मार्च करवाते हुए जेल तक लेकर आई।

जबलपुर

जबलपुर, संदीप कुमार। कोरोना (corona) काल के बीच जबलपुर (jabalpur) में जीआरपी पुलिस (government railway police) की उस समय बड़ी लापरवाही (carelessness) देखने मिली जब पुलिस एक कोरोना पॉजिटिव आरोपी (corona positive accused) को दूसरे निगेटिव आरोपी के साथ शहर भर में पैदल मार्च करवाते हुए जेल तक लेकर आई। इस दौरान जो भी पुलिस को पीपीई किट (PPE kit) के साथ इन आरोपियों को देखते उनके रौंगटे खड़े जाते कि आखिर कैसे कोरोना पॉजिटिव आरोपी को बीच शहर से पैदल जेल लेकर जाया जा रहा है।

यह भी पढे़ं… MP Weather Alert: मप्र के इन जिलों में बारिश के आसार, बिजली चमकने की भी संभावना

चोरी के थे दोनों आरोपी
दरअसल जबलपुर जीआरपी पुलिस ने हाल ही में चोरी करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था और उसके बाद उन्हें न्यायालय में पेश किया। जहां कोर्ट ने पुलिस को आदेश दिया कि पहले आरोपियों का कोरोना टेस्ट करवाया जाए और फिर जेल भेजा जाए। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने दोनों आरोपियों का टेस्ट करवाया जिसमें से एक पॉजिटिव और एक निगेटिव आया।

थाने की गाड़ी खराब थी इसलिए लाया गया पैदल
पीपीई किट पहनकर बीच सड़क में कोरोना पॉजिटीव आरोपी को पैदल जेल ले जा रही पुलिस से जब इस संबंध में पूछा गया तो उनका कहना था कि जीआरपी थाने की गाड़ी खराब हो गई थी। इसलिए पैदल ले जाया जा रहा है, वहीं उनसे जब ये पूछा गया कि आप एम्बुलेंस बुला लेते तो उनका कहना था कि ये अधिकारियों को सोचना था।

यह भी पढ़ें… कोरोना को लेकर सिंधिया का ट्वीट, सावधान रहने की अपील

इस समय जबलपुर में तेजी से कोरोना फैल रहा है जबलपुर में रोजाना 300 से ज्यादा केस आ रहे है। रोजाना मौत हो रही है बावजूद इसके जीआरपी की ये बड़ी लापरवाही कोरोना को और भी अधिक फैला सकती है। बहरहाल अब देखना ये होगा कि इस पूरे मामले में राज्य सरकार संबधित जीआरपी के खिलाफ क्या कदम उठाती है।