जबलपुर में भी नही निकाली जाएगी कांवड़ यात्रा, पुलिस और आयोजको की बैठक में हुआ फैसला

जबलपुर,संदीप कुमार। कोरोना (covid-19) संक्रमण काल के चलते इस साल भी जबलपुर  (Jabalpur) में सावन सोमवार से निकलने वाली कावंड़ यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। जबलपुर में हर साल सावन के महीने में आयोजित होने वाली मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) की सबसे बड़ी कावड़ यात्रा पर भी रोक लगा दी गई है। बीते दस सालों से निकल रही इस संस्कार कावंड़ यात्रा में बड़ी संख्या में लोग शामिल होते है, मगर कोरोना के चलते बीते दो सालों से यह यात्रा नही निकाली जा रही है। सोमवार से शुरू हो रहे सावन महीने माह को देखते हुए जिला प्रशासन ने निर्णय लिया है , कि इस वर्ष भी एहतियात के तौर पर कावड़ यात्रा नही निकाली जाएगी,जिस पर कांवड़ यात्रा निकालने वालो ने भी सहमति जताई है।

दतिया के विकास में किसी भी प्रकार रोड़ा नहीं आने दिया जायेगा – नरोत्तम मिश्रा

प्रशासन और कांवड़ आयोजको की हुई बैठक में यह फैसला लिया गया
कि शहर में सावन माह के दौरान कावंड़ यात्रा आयोजन नही होंगे।

पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित बैठक में एडीएम हर्ष दीक्षित एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर रोहित काशवानी व अति. पुलिस अधीक्षक गोपाल खांडेल के द्वारा श्रावण माह में आयोजित होने वाली कांवड़ यात्रा के संबंध में बैठक ली गई, बैठक में संस्कार कांवड़ यात्रा के शिव यादव, विशाल तिवारी,भारत सिंह यादव, पंडित लक्ष्मी नारायण शुक्ल, राजेंद्र मिश्रा, दीपक शर्मा, शिव प्रजापति, संदीप वर्मा, कमलेश सिंह, रवींद्र कुशवाहा, धर्मेंद्र नामदेव, विजय यादव आदि सहित नगर पुलिस अधीक्षक रांझी एम.पी. प्रजापति, उप पुलिस अधीक्षक अपराध अशोक तिवारी, थाना प्रभारी रांझी आर.के. मालवीय एवं खमरिया थाना प्रभारी निरूपा पांडे उपस्थित रहे।

वही बैठक में उपस्थित संस्कार कांवड़ यात्रा के पदाधिकारियों को म.प्र. शासन की गाइडलाइन से अवगत कराते हुए बताया गया कि कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव हेतु शासन द्वारा जारी निर्देशों में सभी सामाजिक,सांस्कृतिक,धार्मिक,
राजनैतिक,मनोरंजन,मेले आदि, जिनमें जनसमूह एकत्रित होता है, प्रतिबंधित किया गया है।अत: शासन की गाइडलाइन के मुताबिक कांवड़ यात्रा नहीं निकाली जा सकेंगी। कांवड़ यात्राओं पर पूर्णत: प्रतिबंध रहेगा।