दतिया के विकास में किसी भी प्रकार रोड़ा नहीं आने दिया जायेगा – नरोत्तम मिश्रा

मंत्री डाॅ. नरोत्तम मिश्रा रविवार को झांसी चुंगी के पास सर्किट हाउस के सामने 47 लाख की लागत से निर्मित पाथवे के लोकार्पण एवं पौधारोपण के कार्यक्रम में सम्मिलित होने पहुंचे।

दतिया, सत्येन्द्र रावत। मध्यप्रदेश शासन के गृह, जेल, संसदीय कार्य, विधि एवं विधायी विभाग के मंत्री डाॅ. नरोत्तम मिश्रा (Minister Dr. Narottam Mishra)रविवार को झांसी चुंगी के पास सर्किट हाउस के सामने 47 लाख की लागत से निर्मित पाथवे के लोकार्पण एवं पौधारोपण के कार्यक्रम में सम्मिलित होने पहुंचे। जहां उन्होंने कहा कि उनकी सोच हमेशा से ही विकास की रही है। जिसे धरातल पर उतारने का प्रयास रहा है। दतिया के विकास में किसी भी प्रकार का रोड़ा नहीं आने दिया जायेगा।

यह भी पढ़ें…बैंक में 01 अगस्त से बदल जाएंगे पैसों से जुड़े यह नियम , आर बी आई ने किया बदलाव

गृह मंत्री डाॅ. मिश्रा ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सोच हमेशा विकास की रही है। उसे धरातल पर उतारने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि दतिया के विकास में किसी भी प्रकार का रोड़ा नहीं आने दिया जायेगा। गृह मंत्री ने कहा कि दतिया का चहुमुखी विकास एवं चैतरफा विस्तार हो रहा है। विस्तार तभी सार्थक होगा जब इसमें हम अपना भी सहयोग दें। उन्होंने कहा कि नगर के विकास एवं पार्को के सौन्र्यीकरण कार्य हेतु किये अतिक्रमण को हटाने का विरोध हुआ, लेकिन आज सीता सागर पार्क को मार्निग वाॅक के लिए एक अच्छा स्थान विकसित हो गया है।

गृह मंत्री ने कहा कि नगर में रिंग रोड़ बनाने एवं सीता सागर पर अतिक्रमिक जो परिवार प्रभावित न हो इसके लिए उन्हें भाण्ड़ेर रोड़ एवं रिंग रोड़ से प्रभावित हुए परिवारों को मोदी नगर की व्यवस्था की गई। डाॅ. मिश्रा ने कहा कि लाला का ताल का सौन्दर्यीकरण कर उसे पर्यटक के रूप में विकसित कर उसे सैल्फी पाइंट के रूप में बनाया गया है। गृह मंत्री ने कहा कि कोरोना के कारण दतिया में श्रावण मास दो वर्षो से पार्थिव शिवलिंग बनाने का कार्यक्रम नहीं हो पा रहा था इस बार हम घरों में ही पार्थिव शिवलिंग का निर्माण करें। गृह मंत्री ने कहा कि वृक्षों का मानव जीवन में विशेष महत्व है। पृथ्वी पर पैदा होने वाली प्रत्येक वनस्पती औषधी है। लेकिन उसकी पहचान एवं जानकारी न होने के कारण उपयोग नहीं कर पाते है। उन्होंने कहा कि हमें अपनी प्रकृति, संस्कृति एवं सभ्यता से जुड़े रहना है। इसी कारण ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना का संक्रमण भी कम देखेने को आया है।

गृह मंत्री ने आगे कहा कि पौधरोपण के कार्यक्रम में पौधा तो बहुत लगाये जाते है लेकिन बाद में वृक्ष देखने को नहीं मिलते। जो आप पौधे लगाये हम उनके संरक्षण एवं संवर्धन एवं देखरेख की जबावदारी लेते हुए एक पौधा लगाने का संकल्प भी लें। उन्होंने कहा कि वृक्ष काटना उतना ही अपराध है पेड़ों के काटने पर मौन रहना है। अतः पेड़ कटाने वालों का विरोध करें। उन्हें वृक्षों के महत्व को बतायें। कार्यक्रम के शुरू में कलेक्टर संजय कुमार ने पाथवे कार्य की जानकारी देते हुए बताया कि गृह मंत्री की प्रेरणा से 7 माह पूर्व इस कार्य की कल्पना की गई थी। जो आज मूर्तरूप लिया है। गृह मंत्री ने इस दौरान पौधरोपण कार्यक्रम में ”एल्वा चम्पा” का पौधा रोपित किया। पौध रोपण कार्यक्रम में 70 पौधे लगाये गए।

दतिया के विकास में किसी भी प्रकार रोड़ा नहीं आने दिया जायेगा - नरोत्तम मिश्रादतिया के विकास में किसी भी प्रकार रोड़ा नहीं आने दिया जायेगा - नरोत्तम मिश्रा

यह भी पढ़ें… हिमाचल के किन्नौर में चट्टान गिरने से 9 लोगों की मौत, पीएम ने दो लाख के मुआवजे का किया ऐलान