Two-Wheeler-Thieves-Gang-arrested-in-jabalpur

जबलपुर| जबलपुर शहर में हो रहे दोपहिया वाहनों की चोरी पर पुलिस ने शिकंजा कसते हुए एक्टिवा चोर गिरोह को पकड़ा है। खास बात ये है कि चोर गिरोह का सरगना भाजयुमों का पूर्व मंडल उपाध्यक्ष आदित्य सिंह है जो कि अपने साथियों के साथ मिलकर पहले नकली चाबी से गाड़ियां चोरी किया करता था और फिर नकली नंबर प्लेट लगाकर वाहनों को औने पौने दाम बेच दिया करता था। मदन महल थाना पुलिस ने नेता आदित्य सिंह सहित 12 लोगो को गिरफ्तार किया है पुलिस ने आरोपियो से चोरी के 8 दोपहिया वाहन भी बरामद किए है। 

गैंग का मुख्य सरगना 24 दिन पहले भी चोरी के मामले में गिरफ्तार हुआ था जो कि हाल ही में जमानत में छूटा था।आरोपी आदित्य सिंह के साथ उसके साथी राजेश पटैल,मोहम्द शिराज,निखिल,राजा रजक, अभिषेक,रौनक रिजवान, रौनक पटैल,मोहम्द दिलसाद, महफूज आलम,राहुल बेन मो.शकील को गिरफ्तार किया है इसके अलावा दो साथी जितेंद्र ओर मनोज अभी फरार है।

दरअसल, आगामी लोकसभा चुनाव के दौरान शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए पुलिस लगातार वाहनों की सघन चैकिंग में जुटी हुई है। थाना मदनमहल पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि आदित्य सिंह जो कि  गुजराती मोहल्ला मदनमहल में रहता है और चोरी की मोटर साईकिल एवं एक्टिवा चोरी की बेच रहा है। सूचना पर तुरंत पुलिस ने आदित्य सिंह के घर पर दबिश दी तो एक बिना नंबर की बाइक ओर एक सफेद रंग की एक्टिवा गाडी मिली। पुलिस ने जब आरोपी से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसके अन्य साथी भी चोरी की गाड़ियों को कम कीमत में बेचा करते है। पुलिस ने जब ओर गंभीरता से जांच की तो पाया कि आदित्य सिंह अपनी नाम की गाड़ी की नंबर प्लेट चोरी की गई गाड़ियों में लगाकर बेचा करता था। आदित्य सिंह डुप्लीकेट चावी से दोपहिया वाहनों को चुरा कर कम कीमत में बेचने का काम लंबे समय से कर रहा था। जब्तशुदा वाहनो के चैचेस नंबर तथा इंजिन नंबर पर गूगल के माध्यम से एम पी ट्रांसपोर्ट की वेबसाइट से सर्च किया गया तो जप्त शुदा वाहनो में लगी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट फर्जी पाई गई। फिलहाल पुलिस ने सभी आरोपियो को रिमांड में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।