कटनी, अभिषेक दुबे। जिला प्रशासन की सक्रिय भूमिका और महाराष्ट्र की सोलापुर पुलिस के सहयोग से सोलापुर में बंधक बनाए गए 52 श्रमिकों को छुड़ाने में सफलता मिली है। शुक्रवार देर रात श्रमिकों को कुशलतापूर्वक कटनी के स्लीमनाबाद लाया गया। इस पूरे मामले में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने ट्विटर के माध्यम से कटनी कलेक्टर व महाराष्ट्र के पुलिस अधिकारियों की सराहना की है।

महाराष्ट्र में बंधक बनाए 52 मजदूर छुड़ाए गए, कार्रवाई पर सीएम ने की कलेक्टर की तारीफआपको बता दें यह पूरा मामला मंगलवार को होने वाली जनसुनवाई में धनवाही ग्राम में रहने वाले मजदूरों के द्वारा शिकायत कर सामने लाया गया था। जिसके बाद इस पूरे मामले की जानकारी कटनी कलेक्टर प्रियंका मिश्रा को दी गई थी। उन्होंने मामले की गंभीरता को देखते हुए और संवेदनशीलता को समझते हुए तुरंत बहोरीबंद एसडीएम को प्रकरण की जांच कराने के लिए निर्देशित किया। बहोरीबंद एसडीएम सिसोनिया ने बंधकों के परिवार वालों से जानकारी एकत्रित कर श्रमिकों से व्यक्तिगत रूप से बात की जिसके बाद पूरे मामले की पुष्टि हुई। जानकारी मिली कि श्रमिकों को झांसा देकर सोलापुर के कंडल गांव नामक स्थान पर ले जाया गया था और जोर जबरदस्ती कर कर वहां काम कराया जा रहा था।

शिकायत की पुष्टि होने के बाद कटनी कलेक्टर को इस बात से अवगत कराया गया जिसके बाद महाराष्ट्र के अधिकारियों से कटनी जिला प्रशासन के द्वारा संपर्क किया गया और पूरी बात बताई गई। इसके बाद महाराष्ट्र पुलिस भी हरकत में आई और मौके पर जाकर श्रमिकों को छुड़वाया। साथ ही इस बात की जानकारी उन्हें कटनी जिला प्रशासन को दी गई जिसके बाद बसों के माध्यम से श्रमिकों को कटनी लाया गया। इस पूरे मामले की जानकारी जैसे ही प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को लगी उनके द्वारा ट्विटर के माध्यम से महाराष्ट्र समेत मध्य प्रदेश के कटनी के कलेक्टर की भी तारीफ करते हुए कहा कि आप जैसे अधिकारी हमारी शान हैं।