Lokayukta Action : शपथ लेने के तीसरे ही दिन सरपंच 1 लाख रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार

लोकायुक्त पुलिस ने सरपंच सुशील पाल के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।  

कटनी, डेस्क रिपोर्ट। प्रदेश में हाल ही में संपन्न चुनावों के बाद शपथ ग्रहण समारोह चल रहे हैं, इसी बीच कुछ जन प्रतिनिधि ऐसे सामने आये हैं जिन्होंने शपथ को कुछ घंटों में ही भुला दिया। ताजा मामला कटनी जिले के नव निर्वाचित सरपंच का है जिसे 1 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए जबलपुर लोकायुक्त पुलिस ने गिरफ्तार (Sarpanch arrested for taking bribe) किया है। खास बात ये है कि सरपंच ने 2 अगस्त को ही भ्रष्टाचार के खिलाफ शपथ ली थी और तीसरे ही दिन 5 अगस्त को वे खुद रिश्वत लेते पकड़े गए।

जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश प्रयागराज के रहने वाले आलोक कुमार नामक किसान की 8 एकड़ कृषि भूमि ढीमरखेड़ा जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत खाम्हा में है जो उनकी मां के नाम है। वो इसे बेचना चाहते थे, पिछले कई दिनों से वे चक्कर लगा रहे थे।

ये भी पढ़ें – MP News : लंपी वायरस से तड़पकर दम तोड़ रहे मवेशी, चिंता में पशु चिकित्सा विभाग, अलर्ट जारी

इस बीच सरपंच बनकर आये सुशील पाल से उनकी मुलाकात हुई , सुशील पाल ने 2 अगस्त को ही सरपंच पद की शपथ ली थी। सरपंच सुशील पाल ने आलोक कुमार से कहा कि वो 50 हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से रिश्वत उन्हें देगा तो उनकी जमीन की रजिस्ट्री हो पायेगी। सरपंच ने उन्हें बाहरी व्यक्ति होने के बावजूद शासकीय योजनाओं का लाभ दिलाने का भरोसा दिया।

ये भी पढ़ें – शर्मनाक : गौ माता को बनाया हवस का शिकार, हिन्दू संगठन भड़के, पुलिस ने मामला दर्ज किया

रिश्वत मांगे जाने की शिकायत आलोक कुमार ने जबलपुर लोकायुक्त पुलिस (Jabalpur Lokayukta Police) कार्यालय में की।  लोकायुक्त एसपी संजय साहू ने अपनी टीम को एक्शन के निर्देश दिए। लोकायुक्त की टीम ने वॉइस रिकॉर्डर देकर दोनों की बात रिकॉर्ड करवाई जिसमें सरपंच सुशील पाल द्वारा पहली किश्त के रूप में 1 लाख रुपये की मांग की।

ये भी पढ़ें – Video : समंदर किनारे सैंडविच खा रहा था युवक, फिर हुआ कुछ ऐसा कि रह गया भौचक्का

लोकायुक्त पुलिस की समझाइश के बाद किसान आलोक कुमार रिश्वत की राशि लेकर शुक्रवार को सरपंच सुशील पाल के पास गया और उन्हें 1 लाख रुपये दे दिए। रिश्वत दिए जाने का इशारा मिलते ही पहले से तैयार लोकायुक्त पुलिस ने उसे रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। लोकायुक्त पुलिस ने सरपंच सुशील पाल के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।