आपराधिक छवि वालों के शस्त्र लाइसेंस होंगे रद्द, लिस्ट में कई BJP नेताओं के नाम, मचा हड़कंप

भोपाल/खंडवा।
खंडवा एसपी डॉ. शिवदयाल सिंह ने धारा 188 में दर्ज मामलों में आरोपितों के शस्त्र लायसेंस निरस्त करने की कार्रवाई करने के लिए थाना प्रभारियों को आदेश दिए गए हैं। एसपी के निर्देश के बाद आपराधिक किस्म के उन लोगों की सूची बनाई जा रही है, जिनके पास शस्त्र लाइसेंस है।पुलिस ने अब तक 25 लोगों को नामजद किया है, जिसमें कई भाजपा नेताओं के भी नाम शामिल है। नाम आने पर भाजपा नेताओं ने नाराजगी जताई है और सरकार पर कड़ा हमला बोला है।

वर्तमान में करीब 1200 लोगों के पास शस्त्र रखने के लाइसेंस हैं। इनमें सांसद, विधायक भी शामिल है।
पुलिस ने अब तक 25 लोगों को नामजद किया है।इसमें अपने नाम आने पर खंडवा विधायक देवेंद्र वर्मा व पंधाना विधायक राम दांगोरे ने विरोध किया है। विधायकों का कहना है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ के इशारे पर भाजपाइयों पर प्रकरण बनाए जा रहे हैं।

वही भाजपा सांसद नंदकुमार चौहान भी नाराज हो गए है। उन्होंने पत्रकार वार्ता कर एसपी पर हमला बोला है। चौहान ने कहा कि ये तो कमलनाथ के एसपी हैं। वो तो हमारे देश में रहने का भी लायसेंस रद्द करने की बात कर सकते हैं, कर लें जो मर्जी हो वो हम न्याय का रास्ता अपनाएंगे।सांसद चौहान पर बुरहानपुर और खंडवा में धारा 188 के दो के स दर्ज हैं।

क्या कहता है नियम
पुलिस प्रतिवेदन के आधार पर आपराधिक छवि वाले व्यक्ति का लाइसेंस निरस्त करने का अधिकार एसपी को है। अगर इस कार्रवाई से लाइसेंसी संतुष्ट नहीं है तो वे संभागायुक्त के यहां अपील कर सकते हैं। इसके अलावा न्यायालय में भी जा सकते हैं।