खंडवा में ताजिया जुलूस में भगवान राम के विरुद्ध लगाए नारे, अब हिंदू संगठन ने किया विरोध प्रदर्शन

खंडवा, सुशील विधानी। खंडवा (Khandwa) में विगत दिनों बिना अनुमति के मोहर्रम (Muharram ) के अवसर पर ताजिया (Ta’zieh) का जुलूस निकाला गया। जिसमें शहर की फिजा को बिगाड़ने के लिए कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा हिन्दू विरोधी आपत्तिजनक नारे भी लगाए गए। जिसका सोशल मीडिया पर वीडियो भी वायरल हुआ था। वहीं मामले की संज्ञान में आते ही पुलिस ने 15 लोगों के खिलाफ मामला भी दर्ज किया था। वहीं अब यह मामला गर्माता जा रहा है। जिसके बाद हिंदू जागरण मंच, बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद महादेव गढ़ ने भगवान राम के विरुद्ध लगाए गए नारों के विरोध में विशाल रैली निकाली। जिसमें हजारों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें…Morena : वैक्सीनेशन अभियान में अधिकारियों की लापरवाही आई सामने, कर्मचारियों को नहीं दिया खाना, भूखे पेट कर रहे काम 

वहीं हिंदू नेता अशोक पालीवाल ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहा कि शहर में इससे पूर्व भी कई बार इस प्रकार की घटनाएं हुई है। प्रशासन ने बाद में उन पर कार्रवाई की है। सवाल यह है कि बिना अनुमति के कैसे जुलूस निकाल लिया गया। वहीं सभी ने पुलिस प्रशासन से अपील की है कि जिन लोगों ने हिंदू समाज पर आपत्तिजनक नारे लगाए हैं उनके विरुद्ध रासुका के तहत कार्रवाई की जानी चाहिए।

इस मामले में नवनीत अग्रवाल विश्व हिंदू परिषद ने कहा है कि पूरे प्रदेश में इस प्रकार की घटनाएं बढ़ती जा रही है। खंडवा में जो आपत्तिजनक नारे लगाए गए हैं जिन लोगों ने लगाए हैं उन लोगों की गिरफ्तारी हो और पुलिस उनके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई करें। यदि उन लोगों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई नहीं होती है तो आने वाले दिनों में उग्र आंदोलन किया जाएगा। बतादें कि दौरान कलेक्टर कार्यालय के आसपास भारी पुलिस सुरक्षा बल तैनात किया गया था। जहां हिंदू समाज के वरिष्ठ नेताओं द्वारा ज्ञापन दिया।

खंडवा में ताजिया जुलूस में भगवान राम के विरुद्ध लगाए नारे, अब हिंदू संगठन ने किया विरोध प्रदर्शनखंडवा में ताजिया जुलूस में भगवान राम के विरुद्ध लगाए नारे, अब हिंदू संगठन ने किया विरोध प्रदर्शन