मध्य प्रदेश चुनाव : बीजेपी से भोपाल में महापौर पद के लिए मालती का नाम लगभग तय, इंदौर और ग्वालियर पर मंथन जारी

भोपाल से मालती राय, रीवा से व्यंकटेश पांडेय, जबलपुर से डॉ. जितेंद्र जामदार के नामों पर सहमति बन गई है। लेकिन इंदौर और ग्वालियर में अभी भी पेंच फंसा हुआ है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। प्रदेश में आगामी चुनाव के लिए पिछले कई दिनों से उम्मीदवारों की दावेदारी को लेकर पार्टियों की अंदर गहमागहमी की स्थिति बनी हुई है। इसी कड़ी में राज्य में सत्तादल भाजपा भी महानगरों के लिए अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा नहीं कर पाया है, लेकिन अब उसकी तरफ से मंगलवार यानि कि आज महापौर के नामों पर मोहर लग सकती है।

सूत्रों के मुताबिक, भोपाल से मालती राय, रीवा से व्यंकटेश पांडेय, जबलपुर से डॉ. जितेंद्र जामदार के नामों पर सहमति बन गई है। लेकिन इंदौर और ग्वालियर में अभी भी पेंच फंसा हुआ है। इंदौर से मधु वर्मा और पुष्यमित्र भार्गव में से किसी एक का नाम आ सकता है। ग्वालियर में पूर्व मंत्री माया सिंह और सुमन शर्मा दावेदारी को लेकर आमने-सामने है।

ये भी पढ़े … नवविवाहित जोड़े को उतारा मौत के घाट, तीन दिन पहले ही हुई थी शादी

मंगलवार को एक बार फिर पार्टी के बड़े नेता बैठक करेंगे, जिसके बाद प्रदेश के 16 नगर निगमों के प्रत्याशियों की लिस्ट जारी हो सकती है। जानकारी के अनुसार, बैठक में प्रत्याशियों को लेकर नए क्राइटेरिया पर चर्चा हुई, जिसके कारण सूची अटक गई।

क्या है भाजपा का नया क्राइटेरिया

पार्टी शूटरों के मुताबिक, बीजेपी के नए क्राइटेरिया के तहत पार्टी किसी ऐसे प्रत्याशी को नहीं उतारेगी, जिसकी उम्र 60 साल से ज्यादा हो और जो दो बार कोई चुनाव हार चुका हो। इससे पहले बीजेपी के राष्ट्रिय अध्यक्ष जे.पी नड्डा परिवारवाद पर तस्वीर साफ कर चुके है, जहां उन्होंने कहा था कि पार्टी किसी पुत्र या परिवार के सदस्य को टिकट नहीं देगी।